sachore jalore news : भाजपा के दीलिप राठी को १५ तो कांग्र्रेस के हीराराम को मिले २० वोट

जागरूक टाइम्स 482 Feb 9, 2021

सांचौर : पालिका में उपाध्यक्ष को लेकर सोमवार को हुए चुनाव में कांंग्रेस के हीराराम देवासी चार मतो से उपाध्यक्ष चुन लिये गये, इस दौरान भाजपा की अन्दरूनी छिपी कलह भी खुलकर बाहर आ गई। भाजपा के एक पार्षद ने क्रॉस वोट कांग्रेस के पक्ष में मतदान कर दिया। जिसकी जानकारी बाहर आते ही भाजपा खेमे में खलबली मच गई। हालांकि सं याबल के आधार पर भाजपा के पास कांग्रेस के १९ के मुकाबले १६ पार्षद थे, किन्तु उसमें से भी एक पार्षद ने क्रॉस वोट करते हुए कांग्रेस के पक्ष में मतदान कर दिया। वहीं दुसरी ओर उपाध्यक्ष को लेकर जहां कांग्रेस को भाजपा खाते से छैदमारी को लेकर कांग्रेसी खेमा खुशी से झूम उठा। इससे पूर्व पालिका उपाध्यक्ष को लेकर हुए नामांकन के लिये कांग्रेस के हीराराम देवासी व भाजपा के दीलिप राठी ने उपाध्यक्ष को लेकर अपना- अपना नामांकन दाखिल किया। इस दौरान निर्धारित समय सीमा के बाद मतदान को लेकर दोपहर २.३० बजे कांग्रेस के पार्षद एक साथ पहुंचे, जिन्होने मतदान करने के बाद करीब १२.३० बजे बाहर निकल गये, इस दौरान भाजपा के पार्षद अलग - अलग टुकड़ो में आये,जिसमें पीरचंद भंसाली व कपूरचंद संघवी सबसे अंतिम में मतदान करने पहुंचे ।

इस प्रकार मतदान की प्रक्रिया करीब ४.१५ बजे पूरी होते ही उपखंड अधिकारी व निर्वाचन अधिकारी भूपेन्द्र यादव ने पार्षदो के समक्ष ही मतगणना की । जिसमें भाजपा के दीलिप राठी को १५ मत व कांग्रेस के हीराराम देवासी को २० मत प्राप्त हुए जिसमें १६ कांग्रेस पार्षदो के अतिरिक्त तीन निर्दलयों व एक भाजपा के पार्षद ने कांग्रेस प्रत्याशी के पक्ष में मदान किया। इसके बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओ ने शहर में विजय जुलूस निकाला। जिसमें वन एवं पर्यावरण मंत्री सुखराम बिश्नोई, पालिका चेयरमैन नरेश सेठ, उपाध्यक्ष हीराराम देवासी, हिन्दूसिंह दूठवा, मोहनलाल पुरोहित, हरिश परमार, बीरबल पूनीया, निर्मला बिश्नोई, बाबूलाल मेहता, चंपालाल जैन, दिनेश वैष्णव, केवलचंद सेठिया,डॉ. भूपेन्द्र बिश्नोई, सत्येन्दू साहू, महेन्द्र माली, जगदीश सारण, अर्जुन देवासी, प्रदीप मांजू, महिपाल सारण, बजरंग सारण, सोहनलाल जांणी सहित बड़ी सं या में पार्टी कार्यकर्ता शामिल रहे ।

पहले टिकटो को लेकर अन्तर्कलह अब क्रॉस वोटिंग - पालिका चुनाव में टिकट वितरण को लेकर हार के बाद जहां अन्दरूनी कलह से बाहर आ ही नहीं पाई थी कि उपाध्यक्ष को लेकर हुए मतदान के दौरान भाजपा केे पार्षद ने क्रॉस वोट कर भाजपा नेताओ को सकते में डाल दिया है। इतना हीं पिछले बोर्ड २५ पार्षदो वाले बोर्ड में भाजपा के १९ पार्षद थे, जबकि वर्तमान में ३५ वार्डो वाली पालिका में भाजपा के १६ पार्षद ही चुनाव जीत पाये है। ऐसे में पालिका में पार्टी की हार को लेकर अन्दरखाने के एक - दुसरे पर दोषारोपण का दौर चल रहा है। ऐसे में क्रॉस वोट भाजपा के लिये बड़ा झटका माना जा रहा है।

दावे कांग्रेसी खेमे में सेंदमारी के थे, खुद के पार्षदो को भी नहीं संभाल पाई पार्टी - पालिका चुनाव के परिणाम आने के बाद भाजपा व कांग्रेस को १६-१६ सीटे मिली थी, ऐसे में तीन निर्दलीय कांग्रेस के खेमे में चले गये, ऐेसे में भाजपा ने पीरचंद भंसाली को पार्टी का प्रत्याशी बनाया और कांग्रेस खेमे में सेंदमारी का दावा कर प्रर्याप्त सं याबल जुटाने की बात कही जा रही थी। किन्तु भाजपा की रणनीति अध्यक्ष व उपाध्यक्ष के चुनाव के दौरान फैल ही साबित नहीं हुई ब्लकि भाजपा के पार्षद ने कांग्रेस के पक्ष में मतदान कर भाजपा नेताओ को सोचने पर मजबूर कर दिया।

पिछले बोर्ड में भी गुटबाजी से गिरा था भाजपा का बोर्ड - पिछले पांच साल के कार्यकाल के दौरान भाजपा का बोर्ड पार्टी के भीतर चल रही गुटबाजी की वजह से गिरा था, जिसकी वजह से पालिका चैयरमैन इन्द्रा खोरवाल व उपाध्यक्ष दिलीप राठी के खिलाफ भाजपा के पार्षदो ने ही अविश्वास प्रस्ताव लाकर नीता मेघवाल को चैयरमैन बना दिया था, वहीं पिछले बोर्ड के गठन के दौरान उपाध्यक्ष को लेकर भागीरथ व्यास ने भाजपा खेमे से बगावत कर निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में नामांकन भी भरा था।

वन मंत्री बोले शहर का विकास करेगे, कोई कसर नहीं छोड़ेगें - वन एवं पर्यावरण मंत्री ने पालिका चुनाव में कांग्रेस की शानदार जीत के बाद कार्यकर्ताओ को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार है, शहर के विकास में कोई कमी नही छोड़ेगे, उन्होने शहर के लोगो द्वारा भरोसा जताने व कांग्रेस को बहुमत देने पर आभार जताया। उन्होने का कि कांग्रेस ने सदैव गरीब, कमजोर वर्ग की हितेषी रही है। उन्होने शहर के विकास के लिये सभी वर्गो से सकारात्मक सोच के साथ सहयोग देने की बात कही। इस दौरान शहर की लंबित समस्याओ के त्वरित निस्तारण का भरोसा दिलाया, ताकि लंबे समय से चली आ रही समस्याओ से शहर के लोगो को निजात मिल सके।




Leave a comment