जो गरीबों का खाता नहीं खुलवा सके, वो पैसे क्या डालेंगे : मोदी

जागरूक टाइम्स 239 Mar 28, 2019

नई दिल्ली (ईएमएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को अपनी राजनीतिक रैली की शुरुआत मेरठ से की। इस रैली में उन्होंने जमकर कांग्रेस समेत पूरे विपक्ष पर तीखा हमला बोला। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के न्याय योजना पर तीखा तंज कसते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जो 50 साल में गरीबों का खाता नहीं खुलवा सके, वो पैसे क्या डालेंगे।

मेरठ के बाद मोदी की दूसरी रैली उत्तराखंड के रुद्रपुर और तीसरी रैली जम्मू के अखनूर ब्रिज के पास होगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जब मैं बैंक खाते खुलवाता था तो कुछ बुद्धिमान लोग कहते थे कि देश में बैंक ही नहीं है, खाते से क्या होगा। मैं पूछता हूं कि जो लोग 50 साल में गरीबों का खाता नहीं खुलावा सके, वो आज कहते हैं कि खाते में पैसे डालेंगे।

मोदी ने कहा कि जमीन हो, आसमान हो या फिर अंतरिक्ष, सर्जिकल स्ट्राइक का साहस आपके इसी चौकीदार की सरकार ने दिखाया है। हमने अंतरिक्ष में 300 किमी दूर जब लाइव सैटेलाइट को अपने एंटी-सैटेलाइट मिसाइल से मार गिराया तो उनको (राहुल गांधी) यह समझ मे ही नहीं आया कि हुआ क्या है। जब हम एसैट की बात कर रहे थे, तब वो थियेटर सेट की बात कर रहे थे। जो लोग सबूत मांगते हैं, मैं 130 करोड़ लोगों से पूछता हूं, उन्हें सबूत या सपूत चाहिए, जिन्हें सबूत चाहिए, वह सपूत के पराक्रम पर सवाल खड़ा कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जब मैं 8-10 साल का था, तब सुना करता था कि सरकार गरीबी हटाने के बारे में बात कर रही है। जब 20-22 साल का हुआ तो इंदिरा गांधी का नारा सुना था, गरीबी हटाओ। इसके बाद की पीढ़ियों में भी कांग्रेस के नामदार गरीबी हटाओ की बात करते रहे, लेकिन गरीबी हटी नहीं।

मोदी ने आगे कहा कि 15 करोड़ से अधिक युवा साथियों को बिना गारंटी लोन देकर स्वरोजगार से जोड़ने का काम एनडीए ने ही किया है। सामान्य वर्ग के गरीबों को 10 प्रतिशत आरक्षण देने का ऐतिहासिक फैसला भी हमने ही लिया है। 1।50 करोड़ से अधिक गरीब बेघर परिवारों को अपना पक्का घर भी हमारी सरकार ने ही दिया है। देश के ढाई करोड़ से अधिक गरीब परिवारों तक पहली बार बिजली कनेक्शन देने का काम भी हमने ही किया है। 4 दशक से हमारे सैनिक वन रैंक वन पेंशन मांग रहे थे, उसको पूरा करने का काम भी इसी चौकीदार ने किया।

देश के करीब 12 करोड़ किसान परिवारों को 75 हजार करोड़ रुपए की सीधी वार्षिक मदद का काम भी हमने किया है। लगभग 50 करोड़ गरीब परिवारों को हर वर्ष 5 लाख रुपए तक के मुफ्त इलाज की व्यवस्था भी हमने की है। 34 करोड़ गरीबों के लिए जनधन योजना के तहत बैंक खाते भी हमारी ही सरकार ने खुलवाए हैं।

Leave a comment