चित्तौडग़ढ़ : बेटे ने की अपने ही पिता की हत्या

जागरूक टाइम्स 115 Feb 11, 2019

चित्तौडग़ढ़ (ईएमएस)। राजस्थान के चित्तौडग़ढ़ जिले में एक व्यक्ति की हत्या उसी के बेटे ने जादू-टोने के संदेह पर कर दी. इस वारदात का खुलासा 15 महीने बाद तब हुआ जब नर कंकाल की पहचान हुई. पिता रामेश्वर की हत्या करने वाले युवक सुरेश ने अपने पिता की हत्या कर शव जंगल में दफना दिया था. उसे रामेश्वर पर जादू-टोने का संदेह था और हत्या के बाद अब तक अपना जुर्म छिपाता रहा. लेकिन समाज की जातीय पंचायत में जब पंचों ने दबाव बनाया तो इस हत्या का खुलासा हुआ.

चित्तौडग़ढ़ पुलिस के अनुसार यह मामला रावत का तालाब इलाके की है, यहां करीब 15 महीने पहले सुरेश नामक युवक ने अपने पिता की गला घोंट कर हत्या कर दी थी. इस हत्या की वारदात को वह अब तक छिपाए हुए था लेकिन जातीय पंचायत के दबाव में आखिर उसने अपना गुनाह कबूल लिया. आरेापी सुरेश ने बतया कि उसके पिता रामेश्वर जादू-टोना करते थे. इसके चलते उसकी बहन और मां बीमार रहने लगी थी और उसकी पत्नी भी छोड़कर चली गई थी.

इसी के चलते उसने रामेश्वर की हत्या कर दी. सुरेश को अपने बच्चों की शादी करनी थी और इसके लिए वो काफी समय से समाज के लोगों से सगाई की बातचीत कर रहा था. लेकिन समाज के लोग रिश्ते की बात के लिए पिता को लेकर आने की शर्त रख रहे थे. जातीय पंचायत में भी सुरेश पर पिता की गुमशुदगी पर सवाल उठने लगे तो उसने टालने का प्रयास किया.

आखिर संदेह के घेरे में आने पर सुरेश ने पंचायत के सामने अपना जुर्म कबूल लिया. सुरेश ने अपना गुनाह कबूल करते हुए कहा कि जादू-टोने के संदेह पर करीब 15 महीने पहले उसने पिता की खेत में गला घोंट कर हत्या कर दी थी. शव को जंगल में ले जाकर पत्थरों के नीचे दफन कर दिया था. इस कबुलनामे के बाद पुलिस ने जांच पड़ाल की तो मौके से एक नर कंकाल बरामद हुआ. कंकाल के लंबे बाल और गले में तुलसी की माला से मृतक रामेश्वर की पहचान की गई.


Leave a comment