Railways: राजस्थान और गुजरात को बड़ी सौगात, 15 जनवरी से चलेगी ये ट्रेन

जागरूक टाइम्स 328 Jan 14, 2022

उदयपुर. रेलवे ने राजस्थान और गुजरात को बड़ी सौगात दी है. उदयपुर-अहमदाबाद रेलवे आमान परिवर्तन के चल रहे कार्य के बीच ही रेलवे ने ब्रॉडगेज से राजस्थान और जोड़ दिया है. रेलवे ने असारवा-हिम्मतनगर डेमू ट्रेन का डूंगरपुर रेलवे स्टेशन तक विस्तार किया है. इसका 15 जनवरी को डूंगरपुर से उद्घाटन किया जाएगा. उसके बाद रविवार को छोड़कर इस ट्रेन सर्विस का नियमित संचालन 17 जनवरी से सप्ताह में 6 दिन तक किया जायेगा. इससे अब राजस्थान और गुजरात के सीमावर्ती इलाकों को काफी राहत मिलेगी.

दरअसल उदयपुर-अहमदाबाद रेलवे आमान परिवर्तन का कार्य लंबे समय से चल रहा है. यह कार्य डूंगरपुर से हिम्मतनगर तक पूरा हो चुका है. उदयपुर से डूंगरपुर के बीच अभी कार्य बाकी है. चंद महीनों में इस कार्य को भी पूरा करने का दावा किया जा रहा है. इसी बीच रेलवे ने इस ब्रॉडगेज रेलवे लाइन पर डूंगरपुर स्टेशन तक ट्रेन चलाने का निर्णय लिया है.

यह रहेगा डेमू ट्रेन का शेड्यूल उद्घाटन के दिन गाड़ी संख्या 09544 डूंगरपुर-असारवा स्पेशल डेमू ट्रेन 15 जनवरी को डूंगरपुर से दोपहर में 2.20 बजे रवाना होकर शाम को 7.00 बजे असारवा स्टेशन पहुचेगी. नियमित ट्रेन सर्विस गाड़ी सं 09543 असारवा-डूंगरपुर डेमू स्पेशल ट्रेन 17 जनवरी से सप्ताह में छह दिन (रविवार को छोड़कर) चलेगी. यह असारवा से सुबह 10 बजे रवाना होकर दोपहर 2.30 बजे डूंगरपुर पहुंचेगी.

इन स्टेशनों पर होगा ट्रेन का ठहराव इसी प्रकार गाड़ी संख्या 09544 डूंगरपुर-असारवा स्पेशल डेमू ट्रेन 17 जनवरी से सप्ताह में छह दिन (रविवार को छोड़कर) डूंगरपुर से दोपहर 2.50 बजे रवाना होकर शाम को 7.15 बजे असारवा पहुंचेगी. यह ट्रेन रास्ते में साहिजपुर, सरदारग्राम, नरोडा, मेदरा, दाभोदा, नांदोल देहगाम, जलीय मथ, रखियाल, खेरोल, तलोद, खारी अमरापुरा, प्रांतिज, सोनासन, हापा रोड, हिम्मतनगर, वीरावाडा, रायगढ़, सुनाक, शामलाजी रोड, लुसदिया, जगाबोर, बेछीवाड़ा, श्री भावनाथ व शाला शाह थाना स्टेशनों पर ठहराव करेगी.

रेल प्रशासन ने आमजन से की यह अपील रेल प्रशासन ने आमजन से अपील की है कि वे 15 जनवरी एवं इसके बाद भी आमान परिवर्तित रेल मार्ग डूंगरपुर-हिम्मतनगर रेलखंड के रेलवे ट्रैक के पास न जाएं. विशेष रूप से इस नए रेल मार्ग के समीप व आस पास रहने वाले लोग सावधानी बरतें और इस रेल मार्ग को अनाधिकृत रूप से पार न करें. यहां उपलब्ध समपार फाटक, रेल अंडर ब्रिज अथवा ओवर ब्रिज का ही उपयोग करें. क्योंकि अब इस रेल मार्ग पर नियमित रूप से तीव्र गति से रेल यातायात का संचालन किया जायेगा.

Leave a comment