जोधपुर : एक बार फिर पायलट से बढऩे लगीं कांग्रेस नेताओं की दूरियां

जागरूक टाइम्स 398 Jun 14, 2021

जोधपुर। केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्रसिंह शेखावत ने कहा कि राजस्थान की वर्तमान कांग्रेस सरकार अवैध तरीके से जनप्रतिनिधियों के टेलीफोन टैप करती है और इसे अपने राजनीतिक हथियार के रूप में इस्तेमाल करती है। ऐसा अनेक बार आरोप लगा है। जोधपुर प्रवास के दौरान रविवार को मीडिया के साथ अनौपचारिक बातचीत में केंद्रीय मंत्री गजेन्द्रसिंह शेखावत ने कहा कि पिछले वर्ष जब फोन टैपिंग प्रकरण सामने आया था, तब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने विधानसभा में और मीडिया के सामने कहा था कि राजस्थान में यह परंपरा नहीं है, लेकिन बाद में विधानसभा में उन्हीं के मंत्री शांति धारीवाल ने कहा कि हमने लीगल तरीके से टेलीफोन टैप किए हैं। शेखावत ने कहा कि मेरी जानकारी में आया है कि कांग्रेस पार्टी के ही कुछ विधायकों ने मुख्यमंत्री से इस बात की शिकायत की है कि उनके टेलीफोन टैप किए जा रहे हैं। यह वैध किया जा रहा है या अवैध किया जा रहा है, मुझे लगता है कि राज्य सरकार और कांग्रेस की मुखिया को इस बात का स्पष्टीकरण देना चाहिए। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सचिन पायलट को लेकर मुख्यमंत्री गहलोत और उनके सिपहसलारों ने जो टिप्पणी की है, वह जगजाहिर है। आज उनको लेकर जिस तरह की टिप्पणी कर रहे हैं, वह भी जगजाहिर है। पायलट जब नाराज होकर चले गए थे तो उस समय उनके बारे में किस तरह का अमर्यादित भाषा का प्रयोग किया गया। उनको गद्दार, भगौड़ा, धोखेबाज, नकारा, नाकाबिल, निकम्मा तक कहा गया। फिर एक बार गलबहियां करते हुए दिखाई दिए और अब जब दूरियां वापस बढऩे लगी हैं।
अबकी बार उनको क्या उपनाम और पदवियां दी जाएंगी, इसकी तैयारी लगता है, सचिन पायलट ने भी कर ली होगी।

Leave a comment