आर्य समाज सुमेरपुर के यज्ञ में कन्याओं ने दी आहुतियां

जागरूक टाइम्स 104 Aug 22, 2019

सुमेरपुर। आर्य समाज सुमेरपुर के तत्वावधान में चल रहे श्रावणी पर्व के पंचम दिवस का शुभारंभ यज्ञ आहुतियों के साथ हुआ जिसमें आर्य कन्या गुरुकुल की आचार्या डाॅ सूर्यादेवी चतुर्वेदा के निर्देशन में ब्रह्मचारिणियों द्वारा किया गया।यज्ञोपरान्त शास्त्रीय संगीतज्ञ कल्याण देवजी वेदी उŸाराखण्ड ने वेदिक संध्या करने नाम के उच्चारण से मन,आत्मा और पर्यावरण का शुद्धिकरण होता है तथा सुविचार पैदा होते और मनुष्य सुसंस्कारवान बनता है।इसी कडी में पंडित केशवदेव शर्मा ने बताया कि संसार में चार तरह के लोग सर्वत्र मिलते है प्रथम देवता, जो सदैव दूसरों का हित चाहते है।

दूसरें मनुष्य जो अपना भी भला चाहते है तथा औरो का भी ।तीसरे प्रकार के वे मनुष्य होते है जो दूसरों को कष्ट देकर अपना स्वार्थ सिद्ध करते है।चैथे प्रकार के वे लोग होते है जो पाश्विक़ व पिशाच प्रवृति के होते है जो अपना तो विनाश करते ही है साथ ही दूसरों का भी विनाश करने में तत्पर रहते है। आर्य कन्या गुरुकुल की ब्रह्मचारिणियों द्वारा सुमधुर स्वर लहरियों के साथ भजन ‘प्रभु नाम जपले माध्यम से नाम का जप करना बताया । इसी कडी़ में स्वामी विदेह योगी कुरुक्षेत्र ने बहुत ही मनोरंजक ढंग सेें आहार के संदर्भ में स्वस्थ रहनें के तीन सूत्र बतायें-ऋतु भुक,हित भुक,मित भुक।

उन्होनें चीनी नमक और मैंदा का प्रयोग हानिकारक बताया अर्थात इन सफेद चीजों से दूर रहें। अंकुरित अनाज के सेवन को स्वास्थ्य के लिए अच्छा बताया। इस आयोजन में सुमेरपुर-शिवगंज के आर्यजन,इ गुलाबसिहं राजपुरोहित, अचलचंद रावल गिरधारीलाल आर्य,नटवर नागर, सुमेर चैधरी, जवानमल, भंवरसिंह, फूलचंद, जुझाराम मीणा,कैलाश कुमार आर्य,सहित शाला परिवार मौजूद रहें।


Leave a comment