हॉकर की हत्या के दो आरोपी गिरफ्तार

जागरूक टाइम्स 966 Jul 28, 2018

- हॉकर को पहले भी दी थी जान से मारने की धमकी

- पुलिस चेत जाती तो बच सकती थी जान

जोधपुर @ जागरूक टाइम्स

महानगर के डांगियावास थाना क्षेत्र में एक हॉकर की हत्या करने के दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है। बताया गया है कि मृतक को सप्ताह भर पहले भी आरोपियों ने जान से मारने की धमकी दी थी, लेकिन पुलिस उस समय चेत जाती तो वह आज जिंदा होता। वहीं पंद्रह दिन पहले भी विवाद हुआ था, जिसकी शिकायत पुलिस तक पहुंची थी। इतना कुछ होने के बाद भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की थी।

दरअसल, बावरला निवासी अशोक पूनिया (24) पुत्र पेमाराम विश्नोई क्षेत्र में अखबार वितरण का काम करता था। गुरुवार अलसुबह भी करीब साढ़े पांच बजे वह घर से अखबार वितरित करने के लिए बाइक लेकर निकला था। वह बावरला से 16 मील होते हुए डांगियावास की तरफ जा रहा था, तभी गांव की सरहद पर झाडिय़ों में पहले से घात लगाकर बैठे बावरला निवासी बीरबल पुत्र हरलालराम विश्नोई, अनिल पुत्र धीमाराम विश्नोई, जितेंद्र पुत्र राजूराम व सुरेश पुत्र श्यामलाल विश्नोई और तीन अन्य बदमाशों ने उसका रास्ता रोक धारदार हथियारों से हमला कर दिया। 

यह भी पढ़े : स्कूल के लिए 57 साल पहले दान की थी जमीन, अब अरबों रुपए की सम्पत्ति हुई तो भूमाफिया की नीयत डोली...

बदमाशों ने बेरहमी से उसके सिर, छाती, पैर पर अंधाधुंध वार किए और अशोक वहीं निढाल होकर गिर पड़ा। इसके कुछ देर बाद ही अशोक का भाई दिनेश वहां से निकला, तो उसे देख बदमाश वहां से भाग गए। भाई ने अपने परिचित को फोन कर वहां बुलाया और गंभीर रूप से घायल अशोक को क्षेत्रवासियों की मदद से प्राइवेट हॉस्पिटल ले गया, लेकिन वहां से उसे एमडीएम अस्पताल रैफर कर दिया गया। यहां कुछ देर बाद उसकी मौत हो गई। पुलिस ने इस बारे में चार नामजद अभियुक्तों के अलावा तीन और अज्ञात के खिलाफ हत्या में मामला दर्ज किया है। 


पहले भी हो चुका है विवाद 

जांच में पता चला है कि दोनों पक्षों के बीच पहले भी विवाद हो चुका है। अशोक विश्नोई द्वारा निकट क्षेत्र में ही रहने वाली एक युवती को फोन करने की बात को लेकर दोनों के परिवार में कुछ दिन पहले विवाद हुआ था। इस मुद्दे को लेकर समाज की बैठक भी हुई थी और इसमें अशोक के आइंदा युवती से कोई संपर्क नहीं करने की बात पर सहमति भी बनी थी, लेकिन युवती के भाइयों ने संदेह के चलते रंजिश पाले रखी। पूर्व में भी युवती के भाई व अन्य ने अशोक पर हमले की कोशिश की थी। इतना कुछ होने के बावजूद डांगियावास पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगी और इसके परिणामस्वरूप गुरुवार अलसुबह बदमाशों ने अशोक हत्या कर दी।

इन्हें किया गिरफ्तार

थानाधिकारी सुरेश चौधरी ने बताया कि बावरला निवासी जितेन्द्र पुत्र राजूराम विश्नोई व सुरेश पुत्र श्यामलाल विश्नोई को मामले में गिरफ्तार किया गया है। उनसे अन्य साथियों के बारे में पूछताछ की जा रही है।

Leave a comment