कर्ज में डूबे ज्वैलर्स ने पूरे परिवार के साथ फांसी खाई

जागरूक टाइम्स 299 Sep 20, 2020

जयपुर के कानोता इलाके के राधिका विहार कॉलोनी में निवास करने वाले 45 वर्षीय यशवंत सोनी ने अपनी पत्नी ममता सोनी, दो बेटे अजीत सोनी,भरत सोनी के साथ कर्ज में डूबे होने के कारण फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। प्रथम दृष्टया सामने आया है कि सोनी ज्वैलर्स का कारोबारी था और उस पर कर्जभार था जिसके चलते पूरे परिवार ने फांसी खा ली।

हालांकि, अभी पुलिस अधिकारियों ने सुसाइड नोट मिलने के बारे में कुछ भी बताने से इंकार कर दिया। फंदे में लटके बेटों के पांव और महिला की आंख पर पट्टी क्यों बंधी थी इस बारे में भी पुलिस अधिकारी कुछ स्पष्ट तौर पर बता नहीं पा रहे हैं। मौके पर पहुंचे एडिशनल एसपी मनोज चौधरी ने बताया कि परिवार ज्वैलरी का काम करता था। पता चला है कि इन्होंने किसी से ब्याज पर पैसे ले रहे थे। जिसके कारण ब्याज माफिया इन को प्रताडि़त कर रहे थे। इससे परेशान होकर परिवार ने फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। उधर, बताया जा रहा है कि आसपास से लोगों से पूछताछ के बाद पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में लिया है। फिलहाल, फॉरेंसिक की टीम ने भी मौके से सबूत जुटाए हैं। चारों मृतकों के शव को पोस्टमार्टम के लिए जेएनयू अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया है।

इनकी पहले कोरोना जांच की जाएगी। जिसकी रिपोर्ट आने के बाद पोस्टमार्टम किया जाएगा। पुलिस का कहना है कि शुरुआती जांच में मामला सामूहिक सुसाइड का लग रहा है। लेकिन, फॉरेंसिक टीम ने मौके से साक्ष्य जुटाए हैं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट का भी इंतजार किया जा रहा है। मृतक कारोबारी के रिश्तेदारों और उनसे जुड़े लोगों से भी पूछताछ की जा रही है। चारों मृतकों की फोन कॉल की डिटेल भी निकलवाई गई है। ऐसे में सभी एंगल पर पुलिस जांच कर रही है। क्योंकि, एक साथ सुसाइड करने की थ्योरी के पीछे कोई बड़ी वजह ही होगी।


Leave a comment