इस साल जमकर होगी बारिश, सामान्‍य रहेगा मानसून: IMD का अनुमान

   Posted Date : 4/16/2018 7:23:11 PM

भारत में इस साल सामान्य मानसून रहने की उम्मीद है। भारतीय मौसम विभाग के एक अधिकारी के अनुसार इस साल देश में बेहतर फसल की उम्मीद की जा सकती है। एशिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था में जहां आधे से ज्यादा खेती योग्य जमीनों पर सिचांई की समस्या रहती है इस बार यहां मानसून का साथ मिलेगा। भारतीय मौसम विभाग के डायरेक्टर जर्नल के.जे. रमेश ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था में मानसून का 2 ट्रिलियन का योगदान है। मानसून का लंबी अवधि (एलपीए) का औसत 97 प्रतिशत रहेगा, जो कि इस मौसम के लिए सामान्य है। कम मॉनसून की 'बहुत कम संभावना' है। इससे पहले प्राइवेट एजेंसी स्काईमेट ने भी 4 अप्रैल को बयान जारी किया था कि 2018 में मॉनसून 100 फीसदी सामान्य रहने की संभावना है।

उन्होंने आगे कहा कि मानसून मई के मध्य में सबसे पहले केरल पहुंचेगा और 45 दिनों के अंदर पूरे देश में फैल जायेगा। यह लगातार तीसरा वर्ष है जब मानसून सामान्य रहेगा। देश में करीब 45 प्रतिशत सिंचित क्षेत्र है और शेष भूमि पर वर्षा आधारित खेती की जाती है, जिसके लिए मानसून का सामान्य रहना बेहद महत्वपूर्ण हो जाता है। सामान्य मानसून से अच्छी फसल और अर्थव्यवस्था में सुधार के साथ-साथ मंहगाई पर रोक लग सकती है। मौसम विभाग के अनुसार इस साल मानसून औसत या सामान्य रहेगा। एलपीए के 96 फीसदी से 104 फीसदी तक रहने की उम्मीद है। पिछले 50 सालों में मानसून का औसत 89 सेमी. है। इस बार भी जून से शुरू होने वाले चार महीने के पूरे सीजन में इसी औसत से मानसून के कारण बारिश होगी।      

Visitor Counter :