Love Story के भंवर में फंसी राजस्थान पुलिस, 3 कांस्टेबल सस्पेंड

IANS | Jan 14, 2022

सवाई माधोपुर. जिले के खंडीप रेलवे स्टेशन के नजदीक संदिग्ध परिस्थितियों में ट्रेन से गिरकर हुई गढ़खेड़ा निवासी हरीश बैरवा की मौत के मामले में नया मोड़ आ गया है. इस मामले में अब गंगापुर निवासी युवती ने अपने परिजनों एवं दर्जनभर ग्रामीणों के साथ सदर थाने पहुंचकर प्रदर्शन किया. युवती ने थानाधिकारी को परिवाद देकर मृतक के भाई और अन्य परिजनों के खिलाफ रेप और अन्य धाराओं में मामला दर्ज करने की मांग की है. इस मामले में प्रथम दृष्टया लापरवाही बरतने पर पुलिस अधीक्षक ने सदर थाने के हेड कांस्टेबल मीठालाल मीणा और कांस्टेबल मुनिराज तथा रवि को निलंबित कर दिया है. मामले की न्यायिक जांच की जा रही है.

युवती ने परिवाद के माध्यम से बताया कि मृतक हरीश बैरवा से उसकी मुलाकात तीन वर्ष पूर्व हुई थी. हरीश ने प्यार का झांसा देकर उसे अपने जाल में फंसाया. एक दिन जब घर पर अकेली थी तो हरीश उसके घर आ गया. हरीश ने उसकी सहमति के बिना उससे शारीरिक संबंध बनाये. इस दौरान उसके अश्लील फोटो भी ले लिए. युवती ने आरोप लगाया कि हरीश उसके फोटो को सार्वजनिक करने की धमकी देने लगा और जबरन उसे अपने साथ कुडगांव ले गया. मतृक के भाई पर भी रेप का आरोप युवती का आरोप है कि हरीश ने उसे वहां बंधक बनाकर रखा. युवती ने हरीश के भाई गोविंद बैरवा पर भी रेप करने का आरोप लगाया है. इसके साथ ही हरीश के जीजा और एक अन्य भाई पर छेड़छाड़ करने एवं जबरन शारीरिक संबंध बनाने के लिये दबाव डालने का आरोप लगाया है.

युवती का कहना है कि उसके परिजनों ने सदर थाने ने उसके लापता होने का मामला दर्ज कराया था. इस पर सदर थाना पुलिस कुडगांव पहुंची और उसे हरीश के चंगुल से बचाया.युवती ने कहा इसलिये हुई हरीश की मौत युवती का कहना है कि जब पुलिसकर्मी उसे ट्रेन से लेकर आ रहे थे तभी हरीश भी ट्रेन में आ गया. वह इधर उधर दौड़ने लगा. उसी दौरान वो ट्रेन से गिर गया और उसकी मौत हो गई. सवाई माधोपुर सदर पुलिस ने युवती के परिवाद के बाद आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.हरीश के पिता ने भी दर्ज कराया मामला दूसरी तरफ इस मामले में हरीश के पिता श्रीलाल बैरवा ने वजीरपुर पुलिस थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है. श्रीलाल का कहना कि गंगापुर सिटी निवासी लड़की से 9 सितंबर 2021 को उसके बेटे की कोर्ट मैरिज हुई थी. श्रीलाल का आरोप है युवती के परिजनों ने पुलिस से मिलीभगत कर उसके बेटे को चलती ट्रेन से नीचे फेंक दिया जिससे उसकी मौत हो गई.