प्राणीमात्र की सेवा में समर्पित : बाबूलाल भंसाली

जागरूक टाइम्स 467 Dec 17, 2021

सत्कर्मों का सूर्य जब मन में उदित हो जाता है तब मनुष्य सत्य से खुलकर साक्षात्कार करता है। तब उस पवित्र प्राण की नजरों में सब भेद मिट जाता है। वह संसार में प्राणीमात्र की सेवा को ही अपना कर्तव्य मानने लगता है। सत्कर्मों के ऐसे ही पवित्र प्रकाश से सराबोर हैं राजस्थान में हाड़ेचा के मूल निवासी एवं प्रसिद्ध उद्योगपति बाबूलाल मिश्रीमल भंसाली। हिंदुस्तान की अग्रणी कंपनियों में शुमार भंसाली इंजीनियरिंग पॉलीमर्स लि. के एमडी बाबूलाल भंसाली को इंडस्ट्रियल विकास में उत्कृष्ट प्रदर्शन एवं देश के आर्थिक विकास में योगदान के लिए हाल ही में इस्टीट्यूट ऑफ इकॉनोमिक स्टडीज की ओर से सर्वोच्च 'उद्योगरत्न सम्मान' प्रदान किया गया है।

साथ ही उनकी भंसाली इंजीनियरिंग पॉलीमर्स लि. को भी 'एक्सीलेंस अवॉर्ड' से सम्मानित किया गया है। लगभग 15 वर्षों तक स्टील इंडस्ट्री में अपना लोहा मनवाने के बाद 1984 से एबीएस एवं एसएएन में सिक्का जमा चुके भंसाली जितनी कुशलता के साथ अपने कार्यक्षेत्र में अग्रसर हैं, उतने ही मनोयोग के साथ वह मानवसेवा-प्राणीसेवा में भी तत्पर रहते हैं। कोरोनाकाल में मरीजों के लिए किए गए उनके सर्वश्रेष्ठ सेवाकार्यों को सम्मान देने के लिए भारत विकास परिषद की राजस्थान पश्चिम प्रांत की ओर से उनको अभिनंदन पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया।

52 करोड़ रु. श्रावक-श्राविका भवन को घोषित
हाड़ेचा के मूल निवासी बाबूलाल भंसाली वो शख्स हैं जो खुले हाथों से दान करते हैं। सूरत के दीक्षाविधि समारोह के दौरान अहमदाबाद के मादलपुर-पालड़ी स्थित श्रीशांतिजिन जैनसंघ, मादलपुर-पालड़ी में निर्माणाधीन श्रावक-श्राविका आराधना भवन के संपूर्ण निर्माण की जिम्मेदारी हाड़ेचा निवासी बाबूलाल मिश्रीमल भंसाली परिवार ने ली है। इस भव्य आराधना भवन के निर्माण को 52 करोड़ रुपए देने की घोषणा बाबूलाल भंसाली ने की है। इस श्रीशांतिजिन जैनसंघ में 51 करोड़ की लागत से श्रावक-श्राविका आराधना भवन बनकर तैयार होगा जबकि भंसाली परिवार ने एक करोड़ आठ लाख की राशि रेखा कानुंगो की दीक्षा निमित्त में भोजनशाला के लाभार्थ प्रदान करने की घोषणा की है। गुजरात के मुख्यमंत्री, गृहमंत्री, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष समेत कई महानुभावों ने मुमुक्षुओं का भव्य स्वागत किया।

कोरोना काल में प्राणवायु की सौगात
कोरोना की दूसरी लहर पहली से ज्यादा तबाही लेकर आई थी। कोविड-19 वायरस के चपेट में आए मरीजों के लिए ऑक्सीजन की कमी ने हाहाकार मचा दिया था। ऐसे में बाबूलाल भंसाली मसीहा बनकर उभरे और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की प्रेरणा से जालोर एवं सिरोही जिले के राजकीय अस्पतालों में चल रहे कोविड केयर सेंटरों के लिए ऑक्सीजन प्लांट लगाने का निर्णय लिया है। इसमें जालोर जिले के सांचौर, भीनमाल एवं आहोर राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर 165 एलपीएम क्षमता के ऑक्सीजन प्लांट लगाए गए। इसी तरह सिरोही जिला अस्पताल में 500 एलपीएम क्षमता वाला, आबूरोड तथा शिवगंज राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर 165 एलपीएम क्षमता वाले ऑक्सीजन प्लांट लगाए। उपरोक्त सभी छह ऑक्सीजन प्लांटों की कुल लागत दो करोड़ पंद्रह लाख रुपए (2.15 करोड़ रुपए) थी। मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा क्षेत्र में 44.70 लाख रुपए का ऑक्सीजन प्लांट लगाया गया।

विद्यालय भवन का निर्माण
भंसाली इंजीनियरिंग पॉलीमर्स लि. के एमडी बाबूलाल भंसाली हाडेचा में राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के भवन का निर्माण करवाएंगे। आबू रोड स्थित भंसाली इंजिनियरिंग पॉलीमर्स लिमिटेड के प्रबंध निदेशक बाबूलाल मिश्रीमल भंसाली का इस विद्यालय से हार्दिक लगाव है क्योंकि उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा हाडेचा स्थित इसी राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय से की है। 50 वर्ष से भी अधिक पुराना यह विद्यालय भवन अब जर्जर हो चुका है। भंसाली भलीभांति जानते हैं कि वर्तमान में विद्यार्थियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए भवन के आधुनिकीकरण एवं विस्तार की अत्यधिक आवश्यकता है जिसे देखते हुए बाबूलाल भंसाली ने जालोर जिला कलेक्टर नम्रता वृष्णि से भेंट कर विद्यालय भवन के निर्माण की इच्छा जताई। इस विद्यालय भवन के बनने से विद्यार्थियों को यहां सभी तरह की शैक्षणिक सुविधाएं उपलब्ध होंगी। यह भंसाली के लिए एक सुखद अनुभूति होगी कि जहां उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा प्राप्त की, अब वहां उनके सहयोग से हजारों नौनिहाल शिक्षा प्राप्त कर जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में अपना नाम रोशन करेंगे।

हाड़ेचा में पशुओं को मिलेगा आधुनिक उपचार
भामाशाह एवं जीवदया प्रेमी बाबूलाल भंसाली ने जहां एक ओर मानव जाति के स्वास्थ्य को कोविड केयर सेंटर एवं ऑक्सीजन प्लांट आदि बनवाए वहीं उन्होंने पशुओं की तकलीफों को दूर करने का भी संकल्प लिया है। मूक पशुओं से अपने विशेष स्नेह के कारण भंसाली हाडेचा में राजकीय पशु चिकित्सालय भवन का निर्माण भी करेंगे। इस भवन में चिकित्सकों के लिए आवास का निर्माण भी किया जाएगा एवं आधुनिक उपकरणों द्वारा जांच व इलाज की व्यवस्था होगी जिससे हाड़ेचा एवं आसपास के नेहड क्षेत्र के पशुओं को चिकित्सा सेवा उपलब्ध होगी। जालोर जिला कलेक्टर नम्रता वृष्णि ने भामाशाह बाबूलाल भंसाली द्वारा करवाए जा रहे इन भवनों के निर्माण के लिए धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कोरोना काल में भंसाली द्वारा जिलेवासियों के लिए उपलब्ध करवाई गई विभिन्न सुविधाओं एवं सहायता के लिए साधुवाद दिया।

जीवदया प्रेमी बाबूलाल भंसाली गौमाता को अपने जीवन में गौमाता को विशेष स्थान प्रदान करते हैं। कठिनाई के दौर में जब किसी बुद्धिजीवी का भी मनोबल शिथिल हो जाता है, उस स्थिति में भी भंसाली गाय को अपने जीवन की सभी सफलताओं में याद रखते हैं। वे अपने किसी भी संकट से उबरने के बाद गौमाता को धन्यवाद देना नहीं भूलते। हाल ही में उनके भाई पुखराज एम. भंसाली के हार्ट की सर्जरी कराई गई थी। यह सर्जरी सफल रही। जिससे परिवार में खुशी का माहौल बन गया। अपने भाई की सफल हार्ट सर्जरी की खुशी में बाबूलाल भंसाली ने गौशालाओं को ग्यारह लाख रुपए का दान दिया है। उन्होंने इन ग्यारह लाख में से पांच लाख रुपए श्री हाड़ेचा नगर गौ सेवा समिति को दिए हैं। वहीं सत्यपुर गौसेवा मंडल, श्री महावीर जीवदया गौशाला एवं श्री भंसाली उमेद गौशाला को दो-दो लाख रुपए की आर्थिक मदद प्रदान की है। मंगल फाउंडेशन के चेयरमैन मंगल सेठ ने कहा कि गौशालाओं में दान देना न सिर्फ अनुमोदनीय अपितु अनुकरणीय कार्य है। यह जीवदया की उत्तम भावना का अनूठा उदाहरण है। अपने भतीजे शांतिलाल हीरालाल भंसाली के सफल हार्ट सर्जरी के बाद भी उन्होंने गौशालाओं में सहयोग राशि देकर अनुकरणीय कार्य किया है। बता दें कि इससे पहले अपने बड़े भाई पुखराज भंसाली की हार्ट सर्जरी की सफलता पर भी भंसाली ने चार गौशालाओं को ग्यारह लाख रुपए की आर्थिक सहायता की थी।

जिसकी मंगल फाउंडेशन के चैयरमेन मंगल सेठ ने अनुमोदना की थी। बाबूलाल भंसाली जीवदया की उत्तम भावना का अनुपम उदाहरण हैं। गौशालाओं में दान देना सिर्फ अनुमोदनीय ही नहीं बल्कि अनुकरणी भी है। भंसाली गौशालाओं में दान देकर ईश्वर के प्रति अपना आभार व्यक्त करते हैं। उनका मानना है कि गौवंशों की सेवा अपने जीवन को सार्थक बनाने का एक सफल प्रयास है। उन्होंने ग्यारह गौशालाओं को एक-एक लाख रुपए का सहयोग दिया है। इस प्रकार ग्यारह गौशालाओं को ग्यारह लाख रुपए की आर्थिक मदद कर मानवीयता का परिचय दिया है। उन गौशालाओं में 1) श्री हाड़ेचानगर गौसेवा समिति, 2) श्री गोपाल गोवर्धन गोशाला, 3) जागरूक गौसेवा संस्थान, 4)श्री महावीर जीवदया गोशाला, 5) सत्यपुर गौसेवा मंडल, 6) श्री भंसाली उमेद गौशाला, 7) ज्ञान रमन जीव रक्षा संस्थान, 8) सत्यम, शिवम्, सुंदरम् गौनिवास, 9) एमटीडीएस जीवदया गौशाला ट्रस्ट, 10) श्री आलम गौसेवा संस्थान एवं 11) श्री चामुंडामाता जीवदया गौशाला। समाजसेवी बाबूलाल भंसाली के इस सेवा कार्य की प्रकाश सी. कानूनगो ने अनुमोदन की है। उल्लेखनीय है कि गत अप्रेल माह में भी भामाशाह बाबूलाल भंसाली ने अनेक गौशालाओं को बड़ी सहायता राशि भेजी थी।

Leave a comment