वेस्टइंडीज पर जीत के साथ सेमीफाइनल में जगह बनाने उतरेगी टीम इंडिया

जागरूक टाइम्स 506 Jun 26, 2019

मैनचेस्टर (ईएमएस)। विश्व कप में गुरुवार को भारत ओर वेस्टइंडीज के बीच होने वाले मुकाबले में भारतीय टीम जीत की प्रबल दावेदार है। भारतीय टीम बल्लेबाजी और गेंदबाजी में वेस्टइंडीज की टीम से कहीं आगे हैं। भारतीय टीम अभी तक एक भी मैच नहीं हारी है और उसका सेमीफाइनल में पहुंचना पक्का है, वहीं वेस्टइंडीज की टीम के पास खोने को कुछ नहीं है ओर वह अपने अभियान का समापन सकारात्मक तरीके से करना चाहेगी।

भारत एक और जीत के साथ सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की करना चाहेगा हालांकि यह इतना आसान नहीं होगा। वेस्ट इंडीज की टीम के पास गंवाने के लिए कुछ नहीं है और वह बाकी मैचों में अन्य टीमों का समीकरण बिगाड़ने की कोशिश करेगी। भारतीय बल्लेबाजों को इस मैच में बेहतर तरीके से खेलना होगा ओर अफगानिस्तान के खिलाफ की गई गलतियों को नहीं दोहराना होगा।

वहीं इसके अलावा दूसरे पावर प्ले के महत्वपूर्ण ओवरों में अनुभवी महेन्द्र सिंह धोनी की विफलता ने कप्तान विराट कोहली की चिंता थोड़ी बढ़ाई है। धोनी ने अफगानिस्तान के खिलाफ बेहद धीमी बल्लेबाजी करते हुए 52 गेंद में 28 रन बनाए और इसके लिए उन्हें काफी आलोचना का सामना भी करना पड़ा। टीम प्रबंधन भी इस समस्या को जानता है लेकिन अब जब 4 लीग मैच बचे हैं तब उनके पास एकमात्र विकल्प धोनी के बल्लेबाजी क्रम में बदलाव करना है। संभवत: इससे केदार जाधव को अधिक गेंद खेलने को मिल सकती हैं जो अपने शॉट चयन में नयापन लाने के लिए जाने जाते हैं।

ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या का इस्तेमाल भी बेहतर तरीके से करना होगा। अफगानिस्तान के खिलाफ मैच में दूसरे छोर से सहयोग नहीं मिलने से उन पर काफी दबाव आ जाता है। वहीं दूसरी ओर आंद्रे रसेल पैर की मांसपेशियों में खिंचाव के कारण बाहर हो गए हैं और इससे वेस्टइंडीज टीम को बड़ा झटका लगा है। इसके बाद भी वेस्ट इंडीज की टीम में काफी तेज गेंदबाज हैं और ऐसे में धोनी को स्ट्राइक रोटेट करने में आसानी हो सकती है क्योंकि वह धीमे गेंदबाजों के खिलाफ सहज होकर नहीं खेल पा रहे हैं। पिछले मैच में अफगानिस्तान के धीमे गेंदबाजों ने इसका काफी फायदा उठाया था।
टीम को धोनी की रणनीति और तेजतर्रार विकेटकीपिंग की जरूरत है और ऐसे में कप्तान और कोच को उनकी भूमिका पर काफी माथापच्ची करनी होगी। दूसरी तरफ पाकिस्तान के खिलाफ शानदार शुरुआत के बावजूद वेस्ट इंडीज की टीम विश्व कप में सेमीफाइनल की दौड़ से बाहर हो चुकी है पर वह टूर्नामेंट का सकारात्मक अंत करना चाहेगी।


Leave a comment