पीएम का ऐलान: कोरोना ने छीना मां-बाप का साया, अब केंद्र सरकार रखेगी अनाथ बच्चों का ख्याल

जागरूक टाइम्स 260 May 30, 2021

नई दिल्ली। फ्री शिक्षा, बीमा, मासिक भत्ता और 10 लाख रुपए...कोरोना से अनाथ हुए बच्चों के लिए मोदी सरकार ने किए कई ऐलान कोरोना वायरस महामारी की वजह से अनाथ हुए बच्चों की शिक्षा से लेकर स्वास्थ्य तक में मोदी सरकार ने कई बड़े ऐलान किए हैं। प्रधानमंत्री कार्यालय ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऐलान किया है कि कोरोना महामारी में माता-पिता गंवाने वाले बच्चों की च्पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रेनज् योजना के तहत मदद की जाएगी। साथ ही सरकार की ओर से अनाथ बच्चों को मुफ्त शिक्षा दी जाएगी। पीएमओ ने कहा कि कोरोना की वजह से अनाथ हुए बच्चों को 18 वर्ष होने पर मासिक भत्ता दिया जाएगा और 23 वर्ष होने पर पीएम केयर्स फंड से 10 लाख रुपए दिए जाएंगे। उनकी मुफ्त शिक्षा की व्यवस्था की जाएगी। पीएमओ ने कहा कि कोरोना की वजह से अपने माता-पिता को खोने वाले बच्चों को 18 साल की अवधि तक पांच लाख का मुफ्त हेल्थ बीमा भी मिलेगा। साथ ही ऐसे बच्चों की उच्छ शिक्षा के लिए एजुकेशन लोन दिलाने में मदद की जाएगी और इसका ब्याज पीएम केयर्स फंड से वहन किया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि बच्चे भारत के भविष्य हैं और हम उनकी सुरक्षा और सहायता के लिए सबकुछ करेंगे। उन्होंने आगे कहा कि समाज के रूप में यह हमारा कर्तव्य है कि हम अपने बच्चों की देखभाल करें और एक उज्ज्वल भविष्य की आशा करें। पीएम मोदी ने कहा कि बच्चे देश के भविष्य का प्रतिनिधित्व करते हैं और हम बच्चों के समर्थन और सुरक्षा के लिए सब कुछ करेंगे।
पीएमओ के मुताबिक, सरकार कोविड-19 के कारण अपने माता-पिता को खोने वाले बच्चों के लिए नि:शुल्क शिक्षा सुनिश्चित करेगी। कोरोना के कारण अपने माता-पिता को खोने वाले बच्चों को 18 वर्ष की उम्र के बाद मासिक भत्ता मिलेगा, 23 साल के होने पर पीएम केयर्स फंड से दस लाख रुपए की निधि मिलेगी। साथ ही सरकार कोरोन के कारण अपने अभिभावकों को खोने वाले बच्चों को उच्च शिक्षा ऋण के लिए सहायता देगी। कोविड-19 के कारण माता-पिता को खोने वाले बच्चों को 18 वर्ष की उम्र तक पांच लाख रुपए का मुफ्त स्वास्थ्य बीमा मिलेगा, प्रीमियम का भुगतान पीएम केयर्स फंड से किया जाएगा।


Leave a comment