डरा रहा कोरोना, तीसरी लहर में पीक के दौरान मुंबई में आएंगे 1.30 लाख केस

जागरूक टाइम्स 226 Aug 27, 2021

नई दिल्‍ली. देश में कोरोना के बढ़ते आंकड़ों ने एक बार फिर डराना शुरू कर दिया है. पिछले 24 घंटे की बात करें तो कोरोना के 46,164 नए मामले सामने आए हैं जबकि 607 लोगों की मौत हुई है. कोरोना के नए मामलों को देखने के बाद तीसरी लहर की बात अब सही साबित होती दिख रही है. वैज्ञानिकों के मुताबिक सितंबर और अक्‍टूबर में कोरोना की तीसरी लहर आ सकती है. कोरोना का असर अब महाराष्‍ट्र (Maharashtra) पर भी दिखाई देने लगा है. महाराष्ट्र में बुधवार को कोविड-19 के 5,031 नए मामले सामने आए हैं और 216 मरीजों की मौत हुई है. मृतकों की संख्या मंगलवार के मुकाबले करीब 100 ज्यादा है.

टाइम्‍स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक स्वास्थ्य विभाग ने महाराष्‍ट्र में कोरोना की तीसरी लहर की आशंका जताई है और कहा है कि तीसरी लहर की पीक के दौरान राज्‍य में 60 लाख संक्रमण के मामले सामने आ सकते हैं, जिनमें से अधिकतर मामले मुंबई और पुणे के हो सकते हैं. एक्सपर्ट्स का कहना है कि मुंबई में कोरोना की दूसरी लहर के चरम के दौरान 91,100 मामले सामने आए थे जबकि पुणे में 19 मार्च को 1.25 लाख मामले सामने आए थे. स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक तीसरी लहर के चरम के दौरान यहां 1.87 लाख मामले सामने आ सकते हैं.

मुंबई में कोरोना के पीक के दौरान 88,823 मरीजों का घर पर इलाज होगा जबकि 47,928 को अस्पताल में भर्ती कराया जाएगा. इस दौरान 957 मरीजों को वेंटिलेटर के साथ आईसीयू बेड की आवश्यकता होगी. पुणे में, 1.21 लाख लोगों को घर पर आइसोलेट किया जाएगा, जबकि 1,314 मरीजों को वेंटिलेटर के साथ आईसीयू बेड की आवश्यकता होगी. ठाणे में दूसरी लहर के पीक के दौरान 86,732 मामले सामने आए थे, जबकि तीसरी लहर में 1.3 लाख मामले और 911 लोगों को वेंटिलेटर की आवश्‍यकता होगी.

नागपुर में कोरोना की दूसरी लहर की पीक के दौरान 80,000 मामले सामने आए थे जबकि तीसरी लहर के दौरान इसके 1.21 लाख तक पहुंचने की उम्मीद है. इस दौरान 850 लोगों को वेंटिलेटर पर आईसीयू बेड की आवश्यकता हो सकती है. रिपोर्ट के मुताबिक मुंबई को 250 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की जरूरत होगी जबकि पुणे को 270 मीट्रिक टन, ठाणे को 187 मीट्रिक टन, नागपुर को 175 मीट्रिक टन और नासिक को 114 मीट्रिक टन ऑक्‍सीजन की जरूरत होगी.


Leave a comment