विकास दुबे मध्यप्रदेश के उज्जैन से गिरफ्तार

जागरूक टाइम्स 626 Jul 9, 2020

भोपाल (ईएमएस)। पांच लाख का ईनामी उत्तर प्रदेश का मोस्ट वांटेड अपराधी विकास दुबे को मध्यप्रदेश के उज्जैन में दबौच लिया गया। विकास यहां महाकाल मंदिर में दर्शन के लिए गया था। वहां महाकाल के दर्शन के लिए रसीद कटवाई और जब गार्ड ने नाम पूछा तो विकास दुबे बताया। इसके बाद पुलिस बुलाई गई और उसे गिरफ्तार कर लिया गया। हालांकि गिरफ्तार होने के बाद भी उसकी हेकड़ी नहीं गई। पुलिसकर्मी जब उसे दबोच कर गाड़ी में बैठा रहे थे तब वह लोगों को देखकर जोर से चिल्लाया, मैं विकास दुबे हूं....कानपुर वाला। इस खुख्वार अपराधी विकास दुबे की गिरफ्तारी के बाद यूपी पुलिस ने राहत की सांस ली है। हालांकि कहा जा रहा है कि विकास दुबे को आशंका थी कि पुलिस जल्द ही उसका भी एनकाउंटर कर सकती है।

यही कारण है कि महाकाल मंदिर में जब गार्ड ने उससे नाम पूछा तो कोई झूठ बोलने के बजाए उसने अपना सही नाम बताया। यही उसकी गिरफ्तारी का बड़ा कारण रहा। विकास दुबे की गिरफ्तार की पुष्टि होने के बाद दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने फोन पर बात की। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ को पूरी जानकारी दी। मुख्यमंत्री ऑफिस के अनुसार, अब जरूरी कार्रवाई के बाद उसे कानपुर पुलिस को सौंप जाएगा। विकास दुबे भगवान शिव का भक्त है। उसके इंस्टाग्राम पर भी इसकी पुष्टि करने वाले कई फोटो हैं। सोशल मीडिया पर चर्चा है कि भगवान शिव का भक्त होने के कारण वह जानबुझ कर महाकाल मंदिर आया और यहां गिरफ्तार हुआ। अभी तक मिली जानकारी के अनुसार दुबे सुबह 7:45 अपने कुछ साथियों के साथ 250 रुपए का टिकट लेकर महाकाल मंदिर में दर्शन के लिए आया था। इस दौरान वहां तैनात सुरक्षाकर्मियों को शक हुआ तो उन्होंने पुलिस को सूचना दी। पुलिसकर्मी उसे चौकी लेकर पहुंचे।‌

बाद में उज्जैन एसपी मनोज सिंह दुबे को गिरफ्तार कर कंट्रोल रूम ले गए। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विकास दुबे की उज्जैन से गिरफ्तारी के मामले पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से फोन पर चर्चा की है। मध्य प्रदेश पुलिस, विकास दुबे को यूपी पुलिस को हैंड ओवर करेगी। यह भी बताया जा रहा है कि मंदिर के अंदर पहुंचा एक शख्स चिल्ला-चिल्लाकर खुद को विकास दुबे बताने लगे, इस पर परिसर में तैनात सुरक्षा गार्ड ने उसे पकड़ लिया और पुलिस को सूचना दी। तुरंत ही इस बात की सूचना पुलिस अधिकारियों ने उत्तर प्रदेश पुलिस को दी। विकास दुबे के पकड़े जाने को लेकर दो बातें सामने आ रही हैं, पहली यह कि वो सरेंडर करने के लिए ही यहां आया था और दूसरी उसे महाकाल मंदिर के सुरक्षा गार्ड ने पहचान लिया और पुलिस को सूचना दे दी। विकास दुबे के उज्जैन के गिरफ्तार होने को लेकर कई सवाल उठ रहे हैं। वो कैसे उज्जैन तक पहुंचा? पुलिस ने उसे कैसे गिरफ्तार किया? क्या वो खुद ही सरेंडर करने का सोचकर आया था? पुलिस प्रेस वार्ता कर इन सवालों के जवाब देगी। गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का बयान मध्यप्रदेश पुलिस को इंटेलिजेंस से कुख्यात अपराधी विकास दुबे के उज्जैन आने की सूचना मिली थी। इसी आधार पर महाकाल थाना पुलिस ने विकास की गिरफ्तारी की है।


Leave a comment