रोहिड़ा : भारजा मे ग्रामीणों को पड़े मिले 2 जिन्दा बम, माउन्ट आबू सीआरपीएफ की टीम ने किये डिफ्यूज

जागरूक टाइम्स 173 Jan 20, 2021

समीपवर्ती भारजा मे खेल मैदान मे 1 व बावरिया नाड़ी मे मिला 1 जिन्दा बम
रोहिडा थाना अंतर्गत भारजा गांव में सोमवार शाम को खेल मैदान में एक हैंड ग्रेनेड 36 व मंगलवार सुबह बावरिया नाड़ी मे दूसरा जिन्दा बम 84 एमएम सीजीआरएल पड़ा हुआ मिला। बम मिलने की सूचना पर क्षेत्र सनसनी फैल गई। ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। जिस पर सुरक्षा के लिहाज से मौके से कुछ दूरी पर पुलिस जवान तैनात किए गए। सूचना पर रोहिडा थानाधिकारी हनुवंत सिंह मयं जाब्ता मोके पर पहुँचे तथा उच्चाधिकारियों से बात कर माउंट आबू सीआरपीएफ टीम को इसकी जानकारी दी गई।

जानकारी के अनुसार भारजा में बम मिलने की सूचना पर मंगलवार सुबह रोहिड़ा थानाधिकारी हनुवंतसिंह भाटी व माउन्ट आबू से सीआरपीएफ के जवानों की टीम मौके पर पहुंची। आंतरिक सुरक्षा अकादमी माउंट आबू के निदेशक अरुण कुमार महानिरीक्षक व के.थोमस जोब उप महानिरीक्षक के मार्ग निर्देशन में उप कमांडेंट करतार सिंह कपूर के नेतृत्व में टीम ने 84 एमएम सीजीआरएल का बम तथा हैंड ग्रेनेड 36 को टीम ने सावधानी पूर्वक दोनो बमो को डिफ्यूज किया। इस मौके पर सीआरपीएफ की टीम मे निरीक्षक जीडी बलवन्तसिंह चौहान, निरीक्षक जीडी प्रेमाराम विश्नोई, सहायक उप निरीक्षक मांगीलाल, हवलदार जीडी सुभाष तथा कास्टेबल अर्जुन डी द्वारा दोनों बमो को डिफ्यूज किया गया। दोनों बम डिफ्यूज होने के बाद ग्रामीणों ने राहत की सांस ली। इस मोके पर थानाधिकारी हनवन्तसिंह भाटी, पुलिस हेड कांस्टेबल लक्ष्मण राम, कांस्टेबल राजेंद्र, मांगीलाल, समाज सेवी ईस्वरदास वैष्णव, नटवर लाल सुथार सहित ग्रामीण उपस्थित रहे।

ग्रामीणों की जागरूकता के चलते समय रहते बम डिफ्यूज सीआरपीएफ टीम के उप कमांडेंट करतारसिंह ने
बताया की ग्रामीणों की जागरूकता के चलते समय रहते बम डिफ्यूज कर दिया गया। उन्होंने बताया कि बावरिया नाड़ी के पास मिले 84 एमएम सीजीआरएल लाइव हाई एक्सप्लोजीव बम था। यह बम आर्मी पूरे टैंक को एक झटके उड़ा देता है। उन्होंने यह भी बताया कि इस बम को थोड़ा सा हिलाने से विस्फोट हो सकता है। यह ग्रामीणों की जागरूकता है कि बम मिलने की सूचना पुलिस और वहां से आर्मी को मिली जिस पर इस बम को समय रहते डिफ्यूज किया गया अन्यथा कोई बड़ा हादसा हो सकता था।

कही पर भी बम मिलने पर तुरंत पुलिस को दे सूचना
सीआरपीएफ के उप कमांडेंट करतारसिंह कपूर ने बताया कि फायरिंग रेंज में सेना के प्रशिक्षण के दौरान नहीं फूटने वाले बम ढूंढ कर निष्क्रिय किए जाते हैं पर जो बम नहीं मिल पाते वह बम पड़े हुए मिलते हैं। सीआरपीएफ की टीम ने ग्रामीणों को फायरिंग रेंज के बारे मे जागरूक करने के लिए कहां और किसी भी प्रकार के बम दिखाई देने पर बिना छेड़छाड़ किए ग्राम पंचायत व पुलिस थाने में सूचना देने के लिए कहा।

पूर्व मे हों चुके है हादसे
भारजा में के फायरिग रेंज सहित आस-पास के आबादी इलाको में लगातार बम मिलने की सूचना मिलती है। कई साल पूर्व भारजा में कोयला बनाते समय एक बम फट गया था जिससे हादसे में करीब 4 लोगो की मौत हो गई थी। कई साल पूर्व भंगार की दुकान में ब्लास्ट होने से हादसा हो गया था । फायरिंग रेंज मे लकड़ी बीनने गये एक दम्पति की भी बम फटने से मौत हो गई। वही फायरिंग रेंज में प्रक्षिक्षण के दौरान ग्रेनेड फट गया था जिससे कई जवानों को चोटे आई थी। इसके बाद भी बम मिलने का मामला थमा नहि लगातार बम मिलने का सिलसिला जारी है। जिससे ग्रामीणों में दहशत का माहौल है।

Leave a comment