आबूरोड : ब्लाइंड मर्डर का पर्दाफाश, दो गिरफ्तार

जागरूक टाइम्स 695 Jun 20, 2021

आबूरोड। शहर पुलिस ने महज पांच दिन की अवधि में रेलकर्मी की ब्लाइंड मौत का शनिवार को पर्दाफाश कर दिया। वही वारदात को अंजाम देने वाले दो आरोपियों को भी धर दबोचा। प्रकरण की गंभीरता के चलते एसपी धर्मेंद्र सिंह के निर्देशन में एएसपी मिलन कुमार जोहिया, डीएससी प्रवीण कुमार के सुपरविजन में ब्लाइंड मर्डर का पर्दाफाश करने को टीम गठित की गई। टीम की ओर से घटनास्थल की तरफ आने वाले वाहनों की गतिविधि के संदर्भ में सीसीटीवी फुटेज चेक किए गए। संदिग्धों से पूछताछ की गई। उनकी गतिविधियों के बारे में जानकारी प्राप्त गई। जिस पर संदिग्ध शांतिलाल व मुकेश सिंह व अन्य द्वारा प्रेम प्रसंग को लेकर मृतक दीपक की हत्या करने का खुलासा हुआ। इस पर पुलिस ने स्वरूपगंज के भटवाड़ा निवासी टेंपो चालक शांतिलाल (25) पुत्र प्रभुराम भाट व स्वरूपगंज के मलावटी सत्यम सोसायटी निवासी ठेकेदार मुकेश सिंह (29) पुत्र गुलाब सिंह राजपूत पंजाबी को गिरफ्तार किया गया। उनसे पूछताछ व अनुसंधान जारी है। वारदात में अन्य शामिल आरोपियों के संदर्भ में अनुसंधान किया जा रहा है।

वारदात का तरीका
आरोपियों द्वारा एक जीप से मृतक दीपक की बाइक को पीछे से टक्कर मारी गई। फिर दूसरी ईरटिगा कार से मौके पर पहुंचे। घायल की सहायता के लिए उसे लेकर हॉस्पिटल के लिए रवाना हो गए। रास्ते में साथियों के साथ मिलकर पत्थर से घायल के सिर व मुंह पर वार कर वारदात को अंजाम दिया। आरोपियों ने प्रेम प्रसंग के चलते हत्या करना स्वीकार किया है।

मृतक के भाई ने दी थी रिपोर्ट
मृतक रेलकर्मी दीपक के भाई चांदमारी रोड निवासी प्रवीण पुत्र देवाराम हरिजन 16 जून को रिपोर्ट देकर बताया था कि उसके भाई 15 जून की रात 9 बजे भोजन अवकाश के दौरान डीजल शेड से घर आ रहा था। रेलवे ग्राउंड के पास दुर्घटना की सूचना पर वह राजकीय चिकित्सालय पहुंबा। जहां उसके भाई का शव देखा। उसके लगी चोटों से उसके भाई की किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा हत्या की गई है। इस पर पुलिस ने भादंसं की धारा 302 व 323 में मामला दर्ज कर अनुसंधान शुरू किया।

घटनास्थल का जायजा
मामले की गंभीरता के चलते एसपी धर्मेंद्र सिंह शनिवार को आबूरोड पहुंचे। जहां उन्होंने रेलवे ग्राउंड के पास मौका-ए-वारदात का निरीक्षण किया। सूक्ष्मता से घटनास्थल का जायजा लिया। घटना से संबंधित साक्ष्य बारे में फीडबैक लिया।

सदर थाने पहुंचे समाज बंधु व परिजन
एसपी के सदर थाने में मौजूद रहने की जानकारी मिलते ही वाल्मीकि समाज के लोग व मृतक के परिजन सदर थाने जा पहुंचे। जहां थाने के बाहर विरोध जताया। हादसा नहीं हत्या लिखे बैनर व पोस्टर के साथ प्रदर्शन किया। निष्पक्ष जांच की मांग व दोषियों को गिरफ्तार करने की मांग की। इस पर एसपी समाज के चुनिंदा लोगों व मृतक के परिजनों से मुखातिब हुए। उन्हें प्रभावी कार्रवाई किए जाने का भरोसा दिलाया।

शव परिजनों को सुपुर्द
मामले का पर्दाफाश होने व दो आरोपी गिरफ्तार होने पर वाल्मीकि समाज बंधुओं व मृतक के परिजनों के आक्रोश के स्वर शांत हुए। परिजन व समाजबंधु मोर्चरी पहुंचे। जहां आवश्यक कार्रवाई को अंजाम देने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया।







Leave a comment