साण्डेराव : गैस पाइप व बस हादसे में दो लोगों की मौत, मुआवजा देने के बाद धरना समाप्त

जागरूक टाइम्स 379 Dec 4, 2020

देवासी समाज के साथ जनप्रतिनिधियों ने दोषी लोगों के खिलाफ शख्त कार्यवाही एवं मतृक के परिवार वालों को मुआवजा देने के लिए तीन दिनों से अस्पताल के बाहर चल रहा था धरना। 5-5 लाख गैस पाइपलाइन डालने वाली कंपनी की और से तथा 2-2 लाख रुपये मुख्यमंत्री सहायता कोष से मुआवजा देने के बाद धरना समाप्त।

साण्डेराव। फोरलेन हाइवे पर मंगलवार शाम 4 बजे करीब हाइड्रो मशीन से झूलते 80 फीट लंबे गैस पाइप व निजी ट्रैवल की बस हादसे में मृतका मैना देवी देवासी तथा मतृक भंवर लाल पुत्र जसाजी प्रजापति ईसाली की मौत के बाद बुधवार सुबह 9 बजे से शुरू हुआ धरना गुरूवार शाम को गैस पाइपलाइन डालने वाली कंपनी के अधिकारीयों की और से 5-5 लाख रुपये की आर्थिक सहायता राशि के रूप में तथा 2-2 लाख रुपये मुख्यमंत्री सहायता कोष से मुआवजा देने के बाद धरना समाप्त कर दिया गया।

धरने पर देवासी समाज के साथ जनप्रतिनिधियों का पूरा सहयोग रहा
साण्डेराव अस्पताल परिसर के बाहर ईसाली गांव के मृतकों के परिजनों को आर्थिक सहायता राशि के रूप में मुआवजा दिलवाने के लिए देवासी समाज के साथ जनप्रतिनिधियों का पूरा सहयोग बना रहा। धरने पर मारवाड़ विधायक खुशवीर सिंह जोजावर,बाली विधायक पुष्पेद्र सिंह, पुर्व विधायक ओटाराम देवासी,सुमेरपुर विधायक जोराराम कुमावत,पुर्व सांसद बद्रीराम जाखड़ एवं मारवाड़-गोड़वाड जन कल्याण सेवा समिति के अध्यक्ष जयदेव सिंह राणावत के सानिध्य में ईसाली सरपंच इद्र सिंह राजपुहित,साण्डेराव सरपंच दाखुदेवी भील,प्रताप सिंह बिठिया,पेमाराम देवासी नेतरा,जोराराम देवासी बिरामी, दिलीप सिंह हवेली,भुराराम देवासी,रतन देवासी,शंकर देवासी,थानाराम देवासी,हंसाराम प्रजापत साण्डेराव सहित ग्रामीण व जनप्रतिनिधियों ने धरनें पर बैठे थे।

विधायक खुशवीर सिंह जोजावर से बातचीत के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की और से सहायता राशि बढ़ाई
धरने पर बैठे मारवाड़ जंकशन के विधायक खुशवीर सिंह जोजावर ने गुरूवार दोपहर बाद मुख्यमंत्रीअशोक गहलोत से मोबाइल पर इस दुखद हादसे की पूरी जानकारी देते हुए मतृक के परिवार वालों को मुआवजा राशि दो लाख देने की मांग रखी,जिस पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की और से 2-2 लाख रुपये की सहायता राशि शीघ्र ही देने की घोषणा कर दी।

30-30 लाख रुपये की सहायता राशि दिलाने की मांग थी
धरने पर बैठे जनप्रतिनिधियों की और से दोनों मतृको के परिजनों को 30-30 लाख रुपये की आर्थिक सहायता राशि देने की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन जारी है।वहीं गैस पाइपलाइन डालने वाली कंपनी के अधिकारीयों की और से 5-5 लाख रुपये की सहायता राशि देने तथा मुख्यमंत्री सहायता कोष से 2-2 लाख रुपये की सहायता राशि देने की बात के बाद शाम 4 बजे धरना समाप्त कर दिया गया। बोर्ड गठित करने के बाद हुआ पोस्टमार्टम। जिला कलेक्टर अंशदीप के आदेश पर सीएम एचओ द्वारा गठित तीन डाँक्टरो की टीम से हादसे में दोनों मतृको का पोस्टमार्टम करवा कर शव उनके परिजनों को सुपुर्द कर दिया गया,घटना के बाद से अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ब्रिजेश सोनी,सुमेरपुर पुलिस उप अधीक्षक रजत विश्नोई,सुमेरपुर सी आई रवींद्र सिंह,साण्डेराव थानाधिकारी धोलाराम परिहार,सुमेरपुर तहसीलदार प्रवीण रत्नु,आर आई तोलारम देवासी सहित प्रशासनिक अधिकारी सुरक्षा व्यवस्था में लगे रहे।गैस पाइपलाइन डालने वाली कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर मनोज राणा तथा कंपनी के सुपरवाइजर उपेद्र राणा ने पुलिस थाना परिसर में अधिकारियों के समक्ष साढ़े तीन लाख रुपये नकद तथा डेढ़ लाख का चैंक सहायता राशि के रूप में दिया।


Leave a comment