देसूरी-बागोल की सड़क क्षतिग्रस्त, ग्रामीणों में रोष

जागरूक टाइम्स 228 Dec 4, 2020

सोनाणा निकटवर्ती ग्राम पंचायत व उपखंड मुख्यालय से सुमेर,गांथी,बागोल जाने वाला डामरीकृत सड़क मार्ग पिछले कई वर्षों से खस्ताहाल पड़ा है।ग्रामीणों ने कई बार सार्वजनिक निर्माण विभाग सहित जनप्रतिनिधियों को भी इस खस्ताहाल सड़क मार्ग को दुरुस्त करने को लेकर अवगत कराया।मगर समस्या जस की तस बनी हुई है।सड़क क्षतिग्रस्त होने के कारण दुपहिया वाहन चालक आए दिन दुर्घटनाग्रस्त हो रहे।परन्तु सरकार बेखबर होकर गहरी नींद सो रही है।जिसको लेकर ग्रामीणों में रोष व्याप्त है।देसूरी से बागोल गांव का 16 किलोमीटर मुख्य सड़क मार्ग पूरी तरह से खस्ताहाल होकर खड्डों में तब्दील हो गया है।सुमेर सरपंच सोहनलाल जांगिड़ ने कहा कि इस सड़क मार्ग को दुरुस्त करने का जिम्मा सार्वजनिक निर्माण विभाग का है।मगर विभाग कोई ध्यान नही दे रहा है।

सड़क पर एक दर्जन नदी-नाले ,बारिश में मार्ग हो जाता बाधित

इस मुख्य सड़क मार्ग के नदी-नालों पर करीब एक दर्जन रपटे बनी हुई।जिनमे से अधिकांश क्षतिग्रस्त पड़ी है।बारिश में सड़क पर पुलिया नही होने के कारण जगह-जगह से मार्ग अवरुद्ध हो जाता है।जहां घण्टो तक आवागमन बाधित हो जाता है।यही नही बल्कि इस बार हुई तेज बारिश से क्षतिग्रस्त रपल पर एक कार भी पानी के तेज वेग में बह गई।हालांकि इस जगह पर हादसे की खबर के बाद सार्वजनिक निर्माण विभाग पुलिया के निर्माण करवा रही है।लेकिन इसके बाद भी करीब आधा दर्जन क्षतिग्रस्त रपटे पुलिया में तब्दील होने का लम्बे अर्से से इंतजार कर रही है।क्षतिग्रस्त सड़क से वाहन चालकों समेत आम राहगीर व ग्रामीणों को आवागमन करने में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

सड़क में नही हुआ सुधार तो ग्रामीण करेंगे धरना-प्रदर्शन

वर्षो से सड़क के पुनर्निर्माण की आस लिए बैठे ग्रामीण अब हतोत्साहित दिखाई दे रहे है।ग्रामीणों का कहना कि हर बार जन-प्रतिनिधियों ने सिर्फ आश्वासन ही दिया।लेकिन आज दिन तक किसी ने सुध नही ली।जिसके चलते अब ग्रामीणों में रोष व्याप्त है।सुमेर सरपंच ने बताया कि अगर इसका सरकार जल्द ही निराकरण नही करती है तो आने वाले दिनों में चक्काजाम व धरना-प्रदर्शन जाएगा।उन्होंने मीडिया से बातचीत के दौरान सरकार के लिए यह अल्टीमेटम सन्देश दिया है।


कई बार करवाया अवगत

सड़क पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई है।खस्ताहाल सड़क हादसों का पर्याय बन गई मगर विभाग व जनप्रतिनिधियों को कई बार अवगत करवाने के बाद भी कोई ध्यान देने को तैयार नही है।
सोहनलाल जांगिड़
सरपंच,सुमेर ग्राम पंचायत

Leave a comment