वेलफेयर सोसायटी के चुनाव को लेकर दो धड़ों में बंटा मुस्लिम समुदाय

जागरूक टाइम्स 582 Jul 31, 2018

- मुस्लिमों के विकास के लिए पारदर्शिता से चुनाव कराने की मांग

- मारवाड़ मुस्लिम एवं वेलफेयर सोसायटी के चुनाव 5 अगस्त को

जोधपुर @ जागरूक टाइम्स

मारवाड़ मुस्लिम एवं वेलफेयर सोसायटी के पांच अगस्त को होने वाले चुनावों को लेकर शहर का मुस्लिम समुदाय दो धड़ों में बंटता नजर आ रहा है। इश्हाकिया एज्यूकेशन सोसायटी और चांद शाह तकिया संघर्ष समिति के पदाधिकारियों ने संयुक्त रूप से संवाददाता सम्मेलन कर सोसायटी के चुनाव को समाज के विकास के नाम पर नहीं होकर कुछ परिवारों के विकास के लिए होने का आरोप लगाया। उन्होंने बताया कि सोसायटी के पदाधिकारियों की ओर से सदस्यता अभियान चलाने की बजाए सदस्यता शुल्क बढ़ाने और नए बनने वाले सदस्यों को नियम कायदों में फंसाकर चुनाव से दूर रखने का आरोप भी लगाया।


हज हाउस में आयोजित इस संवाददाता सम्मेलन में मारवाड़ मुस्लिम एज्यूकेशन एवं वेलफेयर सोसायटी के पूर्व सचिव सद्दीक खान मेहर, संस्थान के आजीवन सदस्य व इश्हाकिया एज्यूकेशन सोसायटी के अध्यक्ष शौकत ठेकेदार, उपाध्यक्ष मोहम्मद रफीक बुन्दू, कोषाध्यक्ष अब्दुल रशीद अब्बासी, सचिव सलीम मेहरा और चांदशाह तकिया संघर्ष समिति के संयोजक सैय्यद ताहिर अली ने बताया कि इन सदस्यों ने मुस्लिम समुदाय की शिक्षण संस्थानों और विशेषकर सुन्नी समुदाय के मदरसों और शिक्षण संस्थाओं के वजीफे तक बंद कर दिए। 

शहर की सबसे प्राचीन इश्हाकिया एज्यूकेशन सोसायटी के भी बकाया 50 लाख रुपए स्कूल में छात्रों की संख्या कम बताकर रोक दिए हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि समाज के विकास के लिए गठित इस संस्थान के विकास में जहां आम मुसलमान ने तन-मन और धन से सहयोग किया और चाहे कांग्रेस की सरकार रही हो या भाजपा की दोनों ही पार्टियों के मंत्रियों, विधायकों और सांसदों ने भी इस संस्थान का विकास करवाया, लेकिन वर्तमान पदाधिकारी पूरे विकास का श्रेय खुद लेकर समाज और सरकार को गुमराह कर रहे हैं। 

यह भी पढ़े : शोरूम से निकली नई गाड़ी और आहोर में बुजुर्ग ठोक दी टक्कर 

उन्होंने आरोप लगाया कि पांच अगस्त को होने वाले चुनावों में चुनाव प्रक्रिया भी संदिग्ध है। इसमे अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, महासचिव और कोषाध्यक्ष के उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतारकर बैलेट पेपर से करवाने की मांग की। जबकि यहां पर वर्तमान में सिर्फ 257 सदस्य ही चुनाव प्रक्रिया में शामिल होने के लिए अधिकृत है।

Leave a comment