jalore news : पूरे जिले में सर्वे करवाकर बिजली के झूलते तारों को ठीक किया जाये:विधायक देवल

जागरूक टाइम्स 488 Feb 12, 2021

जसवंतपुरा। 15वीं विधानसभा के छठे सत्र में गुरूवार को आयोजित बैठक में क्षेत्रीय विधायक नारायण सिंह देवल ने विधानसभा की प्रक्रिया तथा कार्य संचालन सम्बन्धी नियमों के नियम 295 के तहत विशेष उल्लेख प्रस्ताव के माध्यम से जालोर जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली के झूलते तारों से हो रहे हादसों को रोकने के लिए पूरे जिले में सर्वे करवाकर झूलते तारों को ठीक कराने का मुद्दा उठाया। देवल ने कहा कि दिनांक 16 जनवरी, 2021 को जालोर जिले के महेशपुरा गांव में जैन समाज के तीर्थ यात्रियों की बस, जो जैन तीर्थ स्थलों के दर्शनार्थ आई थी, वो बिजली के झूलते तारों से छू जाने के कारण करंट लगने से जल गई। तत्काल 6 यात्रियों की मौत हो गई और कई यात्री घायल हो गये। ऐसी घटनाऐं प्रदेश भर में आये दिन होती रहती हैं। पूरे प्रदेश में जगह-जगह बिजली के तार लटके पड़े हैं। जालोर जिले सहित मेरे विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र रानीवाड़ा के गाँवों में भी ऐसी ही स्थिति है, जो कभी भी बड़े हादसे का कारण बन सकती है।

अतः मैं इस विशेष उल्लेख प्रस्ताव के माध्यम से माननीय ऊर्जा मंत्री महोदय से निवेदन करना चाहता हूं कि प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में झूलते हुए बिजली के तारों को व्यवस्थित करने या उन पर पीवीसी कोटिंग करके ऊँचा उठाया जाये, ताकि भविष्य में ऐसी घटनाओं की पुनरावृति ना हो और यदि ऐसी घटनाऐं फिर भी होती हैं, तो इसके लिए बिजली विभाग के अधिकारियों की जिम्मेदारी तय की जाये, ताकि वो ऐसी लापरवाही करने से बचें। अभी मेरे क्षेत्र में एक लाईन मैन एवं एक प्राईवेट कम्पनी के निजी कर्मचारी की मौत भी लापरवाही की वजह से हुई थी। जिसमें शटडाउन लेने के बाद भी बिजली का करंट लगने से मौत हुई। ऐसा कैसे हो सकता है। जब शटडाउन लेने के बाद ही कर्मचारी पोल पर चढ़कर काम करता है, तो फिर बिजली का करंट कैसे लग सकता है। इतनी बड़ी लापरवाही के लिए जो भी अधिकारी या कर्मचारी दोषी हो, उसके विरूद्ध भी कठोर कानूनी कार्यवाही होनी चाहिये, तभी ये सुधरेंगे वरना ऐसी लापरवाहियां चलती रहंेगी और लोग अपनी जान गंवाते रहेंगे। सरकार को इस पर तुरन्त कार्यवाही करनी चाहिये।




Leave a comment