सियाणा-सिरोही मुख्य सडक मार्ग जाम, ग्रामीणोें में छाया खौफ, महिलाओं संग ग्रामीण उतरे सडक पर

जागरूक टाइम्स 272 Jan 21, 2021

सियाणा। निकटवर्ती काणदर गांव में बजरी खनन को लेकर ठेकेदार के आदमियों द्वारा ग्रामीणों को पिस्तौल से जान से मारने की धमकी देने के बाद ग्रामीणांे की और से बुधवार दोपहर को सियाणा बस स्टेण्ड पर मार्ग जाम कर विरोध जताया। ग्रामीणों ने बताया कि चान्दना राजस्व सीमा के अधीनस्थ खसरा नम्बर 743 व 744 में योगेष मीना पुत्र सुआलाल मीना के नाम से बजरी खनन का पटटा जारी होने के बाद जारी खनन के स्थान पर नहीं कर दूसरी जगह बजरी खनन करने को लेकर ग्रामीणों की और से बजरी खनन का विरोध जताने के बाद प्रषासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में खनन रोकने की मांग की थी मगर ठेकेदार के आदमी समीरखान की और से खुल्लेआम डम्परों को भरवाकर बजरी का खनन किया जा रहा हैं।

वहीं ठेकेदार समीरखान के करीब 30 लोग खनन वाले स्थान के बाहर बैठे हैं जो वहां से आवागमन करने वाले ग्रामीणों व महिलाओं को पिस्तौल से जान से मारने की धमकियां दे रहे हैं। इधर समीरखान के आदमी रात को बंद गाडियों में रात को गांव में घुमते हैं जिससे ग्रामीणों में खौफ छा गया हैं। जिसको लेकर ग्रामीणांे ने बागरा थाने में, जालोर खनन विभाग व प्रषासनिक अधिकारियों को अवगत कराने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं होने से खफा ग्रामीणों ने आखिरकार बुधवार को ग्रामीणों का गुस्सा फुट पडा और सियाणा बस स्टेण्ड पर आकर सारणेष्वर महादेव मंदिर के समक्ष रास्ता जाम कर विरोध जताने के बाद आहोर विधायक छगनसिंह राजपुरोहित ने मौके पर मामले को लेकर खनन विभाग के अधिकारियों को अवगत कराकर समाधान करने की बात कहते हुए महिलाओं की और से विरोध जताने पर बागरा थाने के मुलदान को पिस्तौल लेकर घुमने वाले लोगों पर कार्रवाई करने की बात कहीं।

अमला पहूंचा काणदर
काणदर में हो रही अवैध बजरी खनन को लेकर ग्रामीणों की और से सियाणा में रास्ता जाम करने के बाद आहोर विधायक छगनसिंह राजपुरोहित, प्रधान नारायणसिंह राजपुरोहित, प्रमुख राजेष राणा, बागरा थाने के एएसआई मुलदान समेत कई लोग काणदर गांव जाकर खनन क्षेत्र का जायजा लिया और बताया कि बजरी खनन से गहरे खडडे खोद देने नदी का पानी बेरों में आने से खतरा बना हुआ हैं।    


Leave a comment