रानीवाड़ा : 14 महिने से पेंशन को तरस रहा सेवानिवृत शिक्षक

जागरूक टाइम्स 491 Feb 27, 2021

रानीवाड़ा। साठ वर्ष की अधिवार्षिकी आयु पूर्ण होने पर शिक्षा विभाग ने राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय रानीवाड़ा के वरिष्ठ अध्यापक महादेवाराम भाटी को सेवानिवृत कर घर तो भेज दिया, लेकिन सेवानिवृति को 14 माह गुजर जाने के बाद भी शिक्षक पेंशन को तरस रहा है। 14 माह से पेंशन न मिलने के कारण परिवार पर पालन-पोषण करने का संकट खड़ा हो गया है। 31 दिसम्बर 2019 को सेवानिवृत हुए शिक्षक महादेवाराम भाटी ने पेंशन प्रकरण नहीं निपटने की स्थिति में मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी रानीवाड़ा को ज्ञापन देकर 16 मार्च 2021 से परिवार सहित उनके कार्यालय के सामने धरना देने की चेतावनी दी है। भाटी ने आरोप लगाया कि विभाग द्वारा उनकी पेंशन पत्रावली की उचित पैरवी नहीं किए जाने के कारण ही उन्हें 14 माह गुजर जाने के बाद भी पेंशन का लाभ नहीं मिल पाया है। भाटी ने ज्ञापन में बताया कि उन्हें सेवाकाल का 19 वर्षीय चयनित वेतनमान व डीपीसी का परिलाभ नहीं दिया गया है। इतना ही नहीं विभाग की उदासीनता के कारण तीन लाख 68 हजार रूपये की वसुली प्रस्तावित की गई है। भाटी ने शिक्षा विभाग के साथ-साथ पेंशन विभाग को पत्रावली में बार-बार आक्षेप लगाने पर पेंशन प्रकरण के निस्तारण में हुई देरी के लिए दोषी बताया है। भाटी ने ज्ञापन में बताया कि 15 मार्च 2021 तक पेंशन प्रकरण निस्तारित नहीं होता है तो वे 16 मार्च से मजबुरन सीबीईओ कार्यालय के सामने परिवार सहित धरने पर बैठेगें। सेवानिवृत शिक्षक भाटी हाल ही में पंचायतीराज चुनाव में रानीवाड़ा पंचायत समिति के उपप्रधान निर्वाचित हुए है। इधर, रानीवाड़ा मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी रवीन्द्र कुमार शर्मा से उक्त प्रकरण के बारे में बात करने पर उन्होंने बताया कि सेवानिवृत शिक्षक महादेवाराम भाटी की पेंशन पत्रावली में पेंशन विभाग द्वारा आक्षेप लगाया गया है, जिसका निराकरण कर सोमवार को ही पत्रावली पून: पेंशन विभाग को स्वीकृति हेतु भिजवा दी जायेगी।


Leave a comment