रानीवाड़ा : बिना किसानों के सरकारी मुंगफली खरीद केन्द्र पड़ा है सुना

जागरूक टाइम्स 228 Nov 26, 2020

रानीवाड़ा। क्षेत्र में मुंगफली की बम्पर पैदावर के चलते राज्य सरकार ने न्यूनतम समर्थन मूल्य पर कृषि मंडियों के माध्यम से मूंगफली की फसल खरीदने हेतु 18 नवम्बर से किसानों का पंजीयन कर फसल तुलाई हेतु पूरी तैयारियां की, लेकिन किसानों के अनुसार मूंगफली फसल का पूरा दाम न मिलने के कारण मूंगफली खरीद केन्द्र पर पंजीयन के बावाजुद न बेचकर पड़ौसी राज्य के पांथावाड़ा व गुंदरी मंडियों में बेच रहे है। किसानों का कहना है कि गुजरात की मंडियों में फसल तुलाई के बाद फसल की कीमत नकद मिलती है, जबकि सरकारी खरीद केन्द्र पर फसल के दाम कम एवं नकद न मिलने के कारण किसान रूचि नहीं दिखा रहे है, जिससे जालेरा स्थित गौण कृषि मंडी में मूंगफली फसल खरीद केन्द्र सूना पड़ा है।

खरीद केन्द्र के कर्मचारी लेखापाल जोगसिंह, प्रभारी मावाराम एवं आसूराम दिनभर किसानों की बांट निहारते रहे, लेकिन सप्ताह भर से किसी काश्तकार ने मंडी की तरफ मुंह तक नही किया। वहीं रानीवाड़ा को-ऑपरेटिव मार्केटिंग सोसायटी लिमिटेड रानीवाड़ा के लेखापाल जोगसिंह ने बताया कि तिलहन की नकदी फसल मुंगफली के पर्याप्त पैदावार के चलते राज्य सरकार ने न्यूनतम समर्थन मूल्य पर मुंगफली की फसल की खरीदी हेतु जालेरा स्थित गौण कृषि मंडी में मूंगफली फसल खरीद केन्द्र पर किसानों से सीधे फसल खरीदने हेतु दो सौ बाईस किसानों का पंजीयन किया जाकर 30 किसानों को टोकन जारी किए गए, लेकिन फसल तुलाई हेतु गुरूवार तक एक भी किसान नहीं पहुंचा, जबकि टोकन जारी करने दस दिवस के भीतर फसल की तुलाई करवाना अनिवार्य है।


Leave a comment