सांसद पटेल ने ऐसा क्या सख्त कहा की हरकत में आया पीडब्लूडी विभाग, पढ़िए पूरा मामला

जागरूक टाइम्स 918 Jul 17, 2018

दिशा की बैठक में सांसद हुए सख्त

सडक़े ठीक नहीं करें तो संबंधित ठेकेदार को नोटिस थमाने के निर्देश

विकास कार्यों को गुणवत्तायुक्त ढंग से पूर्ण करवाने के निर्देश

जालोर। जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) की बैठक में सोमवार को सांसद देवजी एम पटेल गारंटी अवधि में भी सडक़े दुरुस्त नहीं करने वालों ठेकेदारों व कंपनियों पर काफी सख्त नजर आए। उन्होंने सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिकारियों को स्पष्ट शब्दों में कह दिया कि ऐसे ठेकेदारों को नोटिस थमाए जाएं। साथ ही नोटिस कार्रवाईसे उन्हें अवगत करवाने के भी निर्देश दिए।
जालोर-सिरोही सांसद देवजी पटेल की अध्यक्षता में जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) की बैठक सम्पन्न हुई, जिसमे केन्द्र द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं एवं कार्यक्रमों की समीक्षा करते हुए संचालित योजनाओं को निर्धारित समय में पूर्ण करने के साथ ही गुणवत्ता पूर्ण कार्य किए जाने के आवश्यक निर्देश दिए।
बैठक में जिला प्रमुख डॉ. वन्नेसिंह गोहिल ने कहा कि चितलवाना क्षेत्र का एक ग्राम मंडाली जोकि विद्युत से वंचित है वही खाचरवी ग्राम में पूर्व वर्षो में विद्युत खभ्भे तो खड़े कर दिये गये थे लेकिन तार नहीं लगाये गये थे उन्हें सौभाग्य योजना में जोड़ा जाये ताकि क्षेत्र के सभी ग्राम विद्युतीकृत हो सकें। उन्होंने ग्रामीण गौरव पथों के निर्माण में भविष्य में नाली निर्माण के कार्य को भी अनिवार्य से किए जाने की आवश्यकता जताई। जिला कलक्टर बी.एल. कोठारी ने उपस्थित विकास अधिकारियों को निर्देश दिए कि कि जिले में पेंशनरों का अनिवार्य रूप से भौतिक सत्यापन किया जाना है लेकिन बड़ी संख्या में अभी तक भौतिक सत्यापन नहीं हुआ है इसलिए उन्हें भिजवाई गई सूची के अनुरूप अभियान चलाकर इस कार्य को पूर्ण करें साथ ही यदि कोई पेंशनर जिले में निवासरत नहीं है तथा प्रवासी है तो उन्हें भी नियमों के तहत संशोधित कर आगामी 25 जुलाई के पूर्व इसकी सूचना जिला कार्यालय को भिजवायें। उन्होंने बैठक में शिक्षा विभाग के अधिकारियों को कहा कि किसी भी स्तर पर प्रतिनियुक्ति नहीं करें तथा जिस अधिकारी या कार्मिक का स्थानान्तरण हो गया है तथा वह चार्ज नहीं दे रहा है तो ऐसे मामलों में विशेष ध्यान रख कर कार्यवाही करें। उन्होंने सभी अधिकारियों को कहा कि प्रिन्ट या इलेक्ट्रोनिक मीडिया में नकारात्मक खबरों पर विशेष ध्यान देते हुए उनका प्रथम प्राथमिकता से निराकरण करें। बैठक में प्रधानमंत्री आवास योजना, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, स्वच्छ भारत मिशन शहरी व ग्रामीण, श्यामाप्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन अभियान, सोलर एवं आरओ प्लांट, डिजीटल इंडिया-पब्लिक इन्टरनेट एक्सेस प्रोग्राम, आंगनवाडी केन्द्र एवं शिक्षा विभाग से सम्बन्धित योजनाओं व कार्यो की समीक्षा की गई। बैठक में चितलवाना प्रधान हनुमान प्रसाद भादू, सांचौर प्रधान टाबाराम, सांचौर नगर पालिका अध्यक्ष सुश्री नीता मेघवाल, समिति के सदस्य महिपालसिंह राजपुरोहित एवं श्रीमती सरोज बाफना, उप वन संरक्षक अनिता, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रामकुमार कस्वां, डिस्कॉम के अधीक्षण अभियन्ता पी.सी. टांक, जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियन्ता ताराचन्द एवं सार्वजनिक निर्माण विभाग के कार्यवाहक अधीक्षण अभियन्ता शांतिलाल सुथार सहित विभिन्न जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

बीमा करवाया हैतो संबंधित कंपनी से लें रुपए

कलक्ट्रेट सभा कक्ष में सोमवार को आयोजित दिशा की बैठक में क्षेत्रीय सांसद देवजी पटेल ने प्रधानमंत्री ग्राम सडक योजना की समीक्षा के दौरान सार्वजनिक निर्माण विभाग के अभियन्ताओं को निर्देशित किया कि गारंटी अवधि की जो सडकें टूट गई है उन्हें सम्बन्धित ठेकेदारों से दुरुस्त करवाए। साथ ही जिन सडकों का बीमा करवाया हुआ है तथा सम्बन्धित कम्पनी पैसा नहीं दे रही है तो उन्हें भी नोटिस जारी करें ताकि गारंटी अवधि की सडकें ठीक होने के साथ ही भविष्य में सम्बन्धित ठेकेदार एवं बीमा कम्पनियां भी ध्यान रखें। उन्होंने इस सम्बन्ध में दिए गए नोटिसों की जानकारी शीघ्र ही उपलब्ध करवाने के भी सख्त निर्देश दिए।  

ग्रामीणों को त्वरित गति से बिजली कनेक्शन देने के निर्देश

पटेल ने दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत जिले में त्वरित गति से विद्युत कनेक्शन दिये जाने पर बल देने हुए डिस्कॉम के अभियन्ता को निर्देश दिए कि नियमित रूप से स्टोर को चैक करें तथा जहाँ पर पोल, केबल एवं अन्य सामग्री की आवश्यकता हो तो उन्हें पहुंचाएं। सम्बन्धित ठेकेदार से इसकी आपूर्ति भी सुनिश्चित करवायें।

नरेगा फर्जीवाड़े की सात दिन में पुलिस में दर्जकरवाएं रिपोर्ट

पटेल ने रानीवाडा पंचायत समिति के चाटवाडा में महात्मा गांधी नरेगा योजना में फर्जीवाड़े की आगामी सात दिनों के भीतर पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करवाने के भी निर्देश दिए। वही जिला परिवहन अधिकारी को कहा कि कृषकों के ट्रेक्टर व कृषि वाहन संचालन के लिए लाइसेन्स की प्रक्रिया में शैक्षणिक योग्यता में शिथिलता के लिए विभाग को पत्र लिखे तथा इसकी जानकारी उन्हें भिजवा दें ताकि वे भी इस सम्बन्ध में आवश्यक कार्रवाईकर सकें।

बीमा कंपनी ने पात्र को नहीं दिया लाभ तो पत्र लिखें

उन्होंने बैठक में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत कृषि विभाग के अधिकारी को निर्देशित किया कि पात्र कृषकों को बीमा का लाभ सम्बन्धित कम्पनी द्वारा नहीं दिया गया है तो उसके खिलाफ पत्र लिखें। वही जिले में योजना के तहत पात्र किसानों की सूची सम्बन्धित प्रधानों को भी भिजवाएं ताकि वे अपने स्तर पर यथेष्ट सहयोग कर सकें।

Leave a comment