सांचौर में कैलाश पुरोहित बनी प्रधान वहीं सरनाऊ में शांति बिश्नोई पहली प्रधान

जागरूक टाइम्स 318 Dec 11, 2020

सरनाऊ में निर्दलीय के सहारो कांग्रेस ने प्रधान पर जमाया कब्जा, वहीं सांचौर में ९ के मुकाबले १६ मत प्राप्त किये भाजपा प्रधान ने

सांचौर पंचायत समिति प्रधान के लिये कैलाश पुरोहित ९ के मुकाबले १६ मतो से विजय हुई। जिसके बाद भाजपा कार्यकर्ताओ में खुशी की लहर छा गई। भाजपा नेता सांसद देवजी पटेल, पूर्व विधायक जीवाराम चौधरी , दानाराम चौधरी ने पार्टी के चुने हुए पंचायत समिति सदस्यो को पूर्ण सुरक्षा के साथ पंचायत समिति सभागार तक भिजवाया गया, हांलाकि इस दौरान पंचायत समिति परिसर में बड़े स्तर प्रशासन की ओर से सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किये गये थे। वहीं दुसरी और अल सवेरे शुरू हुई नामांकन प्रक्रिया के दौरान भाजपा की वार्ड सं या ७ से निर्वाचित कैलाश पुरोहित समर्थित डेलिगेट के साथ पंचायत समिति के सभागार पहुंची जहां १०.१५ बजे अपना नामांकन दाखिल किया, इस दौरान कांग्रेस की गंगा देवी ने भी पंचायत समिति सभागार पहुंचकर पार्टी की ओर से समर्थक डेलिगेट के साथ अपना नामांकन दाखिल किया, वहीं इस दौरान वार्ड सं या २३ से निर्वाचित निर्दलीय प्रत्याशी गीता चौधरी ने भी नामांकन दाखिल किया, इस दौरान नामांकन व जांंच के बाद मतदान की समय सीमा समाप्त होने के बाद दोपहर करीब ३ बजे कांग्रेस के ९ डेलीगेट पहुंचे, उसके बाद करीब ३.३० बजे भाजपा के १५ प्रत्याशियो के साथ निर्दलीय प्रत्याशी गीता देवी भी पहुंची । इस दौरान मतदान की प्रक्रिया करीब ४.३० बजे पूर्ण होने कें बाद उपखंड अधिकारी द्वारा मत पेटी को सीज करने के बाद पार्टी प्रत्याशियो के समक्ष मतगणना की गई। जिसमें भाजपा की कैलाश पुरोहित को ९ के मुकाबले १६ मत मिलने से प्रधान के लिये विजय घोषित किया गया। इस दौरान मतदान के पश्चात बाहर आते ही भाजपा से विजय प्रत्याशी कैलाश पुरोहित ने विक्टी बताते खड़े लोगो का अभिवादन किया ।

पार्टी जिन्दाबाद नारो के साथ मनाया जश्न, डेलिगेट पहुंचे बाड़ाबंदी में - प्रधान के चुनाव की प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद बेरिकेटिंग के बाहर खड़े भाजपा कार्यकर्ताओ ने नारो के साथ जीत का जश्र मनाया, इस दौरान पार्टी कार्यकर्ताओ ने पूर्व विधायक जीवाराम चौधरी को कंधो पर बिठाकर जुलूस निकाला। इस दौरान मतदान के तुरन्त बाद बाहर आते पार्टी के डेलिगेटस को गाड़ी में बिठाकर बाड़ाबंदी के लिये ले गया, जो शु्रक्रवार को उप प्रधान के चुनाव के पश्चात पार्टी बाड़ाबंदी से मुक्त करेगी, कांग्रेस पार्टी ने भी अपने डेलिगेटस को बाड़ेबंदी के लिये अज्ञात स्थान पर भिजवा दिया गया। इधर सरनाऊ में दिनभर चला ड्रामा, पार्टी नेताओ की मनुहार से माने डेलिगेट- सरंनाऊ पंचायत समिति के प्रधान को लेकर पूरा दिन उल्टफेर ओर मनुहार में बीता, प्रधान की दावेदारी को लेकर कांग्रेस की ओर से सहमति नहीं होने पर तीन नामांकन कांग्रेस खेमे की ओरर से भर दिये गये, जिसमें संावरी बिश्नोई, पदमा बिश्नोई व निर्दलीय प्रत्याशी झमकू देवी ने पर्चा भर प्रधान पद के लिये दावेदारी की, इस दौरान भाजपा की ओर से चतरू देवी बिश्नोई ने नामांकन भरा।

ऐसे में कांग्रेस में सहमति नहीं होने व भाजपा की ओर से महज एक प्रत्याशी द्वारा नामांकन भरने से कांग्रेस में खलबली मच गयी, वहीं नामांकन के आखिरी वक्त तक सहमति नहंी बनने से पार्टी नेता व पूर्व मु य उप सचेतक रतन देवासी ने मान मन्नोवल कर संायती देवी बिश्नोई का नामांकन रखने व शेष प्रत्याशियो के नामांकन वापस लेने के मना लिया, किन्तु इस दौरान पार्टी के दो प्रत्याशी सांवरी बिश्नोई व पदमा बिश्नोई इससे नाराज होकर चली गयी, जो पार्टी के लिये संकट पैदा करने वाला था, इस दौरान मतदान समय से करीब आधा घंटा पूर्व दोनो प्रत्याशियो की मान मन्नोवल कर लाकर मतदान करवाया गया, इस दौरान भी पार्टी नेताओ की सांसे अटकी रही, की आखिरी परिणाम क्या रहेगा, किन्तु जब चुनाव परिणाम घोषित किया गया तो कांग्रेस प्रत्याशी शांति देवी बिश्नोई को १ मत से विजय घोषित किया गया। निर्दलीय प्रत्याशी झमकूदेवी बिश्नोई जो कांग्रेस की बागी प्रत्याशी थी, किन्तु मतदान के दौरान कांग्रेस के पक्ष में मतदान करने से कांगे्रस प्रत्याशी जीत आसान हो गयी। वहीं ज्ञात रहे कि सरनाऊ की १५ सीटो के लिये कांग्रेस व भाजपा के ७-७ प्रत्याशी जीतकर आये थे, वहीं एक निर्दलीय जो कांग्रेस बागी था जो जीतकर आने से कांग्रेस के लिये तारणहार बना ।


Leave a comment