जालोर के पटवार मंडलों का राजस्व रिकार्ड काले कपड़े में हुआ कैद

जागरूक टाइम्स 382 Jan 20, 2021

- पटवारियों का आंदोलन हो रहा है तेज

- 126 अतिरिक्त पटवार मंडलों के कार्य का बहिष्कार

- पटवार मंडल ने कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

जालोर। जालोर जिले में पटवारियों का आंदोलन लगातार तेज हो रहा है। पटवारियों ने जिले के 126 अतिरिक्त पटवार मंडलों के कार्य का बहिष्कार करते हुए राजस्व रिकार्ड को काले कपड़े में बांध कर तहसील कार्यालय में जमा करवाए गए। वहीं इससे पहले पटवारियों ने काला मास्क काली पट्टी बांध कर विरोध दर्ज करवाया। एक दिन का कार्य बहिष्कार कर अपने संघर्ष को सरकार तक पहुंचाने का काम किया। वही मौन रैली व आमजन को मास्क वितरण भी किए गए। गौरतबल है कि राजस्थान के पटवारी पिछले 13 महीनों से लगातार गांधीवादी तरीके से अपनी मुख्य मांग पे - ग्रेड 3600 को लेकर आंदोलनरत हैं।

इधर जब तक पुराने मानदेय का भुगतान और ऑनलाइन कार्य हेतु सभी प्रकार के आवश्यक संसाधन उपलब्ध नहीं करवा दिए जाते तब तक सम्पूर्ण राजस्थान में ऑनलाइन क्रॉप कटिंग प्रयोग संपादित नहीं किए जाएंगे। इस कार्य के संपादित नहीं होने की समस्त जिम्मेदारी राजस्व मण्डल की होगी। इस संबंध में जिला कलेक्टर को ज्ञापन सोंपा गया। जिलाध्यक्ष कैलाश डऊकिया ने बताया कि राज्य सरकार अपनी हठधर्मिता पर अड़ी हुई हैं ,जिसके विरोध में 126 अतिरिक्त पटवारमण्डलो के कार्य बहिष्कार करते हुए राजस्व रिकार्ड को काले कपड़े में बांध कर तहसील कार्यालय में जमा करवाया। पटवारियों ने बताया कि इससे काश्तकारों की परेशानियों को लेकर खेद हैं ,लेकिन सरकार जब तक सुध नही लेगी तब तक प्रदेश भर में पटवारियों का आन्दोलन दिनप्रतिदिन उग्र होता जाएगा। इधर उग्र आंदोलन को लेकर बैठकें कर पटवार संघ रायशुमारी भी कर रहा है। जिला अध्यक्ष डऊकिया के नेतृत्व में बैठकें हो रही है। संघ की 9 उपशाखा पर बैठकें आयोजित कर योजना बनाई जा रही है।

जिला कलेक्टर को पटवार संघ ने सौंपा ज्ञापन
राजस्व पटवारी द्वारा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना अन्तर्गत प्राथमिक कार्यकर्ता के रूप में फसल कटाई प्रयोग संपादित किए जाते रहे हैं । इस कार्य हेतु राजस्थान पटवार संघ पिछले 5 वर्षों से लगातार सभी आवश्यक संसाधन एवं निर्धारित मानदेय के भुगतान हेतु पत्राचार करता आ रहा है , लेकिन पटवारियों के लिए अभी तक अधिकतर जगह किसी भी प्रकार के संसाधन उपलब्ध नहीं करवाए गए हैं और न ही पुराने मानदेय का भुगतान किया गया है ।

4 जनवरी , 2021 को प्रमुख शासन सचिव राजस्व विभाग की अध्यक्षता राजस्थान पटवार संघ के प्रदेश प्रतिनिधियों के साथ हुई बैठक में भी अवगत कराया गया था कि क्रॉप कटिंग हेतु सभी प्रकार के संसाधन और पुराने मानदेय का भुगतान नहीं करवाया जाता है तो संपूर्ण राज्य में ऑनलाइन क्रॉप कटिंग कार्य संपादित नहीं किया जाएगा। लेकिन फिर भी इस संबंध में विभाग द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई है और न आज तक के मानदेय और संसाधनों का भुगतान किया गया है। इसीलिए प्रदेश महासमिति 9 जनवरी , 2021 में लिए गए निर्णय के अनुसार जब तक पुराने मानदेय का भुगतान और ऑनलाइन कार्य हेतु सभी प्रकार के आवश्यक संसाधन उपलब्ध नहीं करवा दिए जाते तब तक सम्पूर्ण राजस्थान में ऑनलाइन क्रॉप कटिंग प्रयोग संपादित नहीं किए जाएंगे इस कार्य के संपादित नहीं होने की समस्त जिम्मेदारी राजस्व मण्डल की होगी।

उपशाखा पर लगातार दिए जा रहे ज्ञापन
जालोर जिले में अपनी मांगों को लेकर लगातार संघर्ष कर रहे पटवार संघ ने आंदोलन की तैयारी कर दी है। पटवार संघ जालोर ने सरकार को ज्ञापनों के माध्यम से बता दिया है कि 30 जनवरी तक सरकार ने पटवारियों की मांगे नहीं मानी तो संघ उग्र आंदोलन पर उतरेगा। इसको लेकर संघ के जिलाध्यक्ष कैलाश डऊकिया के नेतृत्व में कार्यकारिणी के पदाधिकारियों व सदस्यों के साथ उप शाखाओं पर आंदोलन को रायशुमारी की जा रही है। साथ आगामी 30 जनवरी तक मांगें नही माने पर आंदोलन रुख अख्तियार करने की बात भी सामने आ रही है।

एक वर्ष से आयोजित हो रहा पटवार हकयात्रा कार्यक्रम
गौरतबल है कि प्रदेशभर में पटवार संघ अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहा है। अपनी मांगो को लेकर सरकार के विरोध में पटवारी उतर रहे है। प्रदेशभर के समस्त पटवारी पिछले 1 वर्ष से अपनी पटवार हकयात्रा कार्यक्रम में मुख्य मांग ग्रेड पे 3600 व वेतन विसंगति को दूर करने के लिए सरकार से गुहार कर रहे है। पटवारी संघ का कहना है कि गांधीवादी आंदोलन की तरफ सरकार ने कोई ध्यान नहीं दिया।
यह गांधीवादी आंदोलन पटवारियों द्वारा इसलिए किया जा रहा था कि पटवारी आंदोलन करने पर काश्तकारों को परेशानी नहीं हो लेकिन सरकार ने न तो पटवारियों की मांगों की तरफ ध्यान दिया एवं न ही काश्तकारों को होनी वाली परेशानी की तरफ ध्यान दिया। इसीलिए प्रदेशभर के समस्त पटवारी 15 जनवरी से समस्त अतिरिक्त पटवार मंडलों के कार्य का बहिष्कार कर रहे है।

प्रदेश भर में आधे पटवार मंडल रिक्त
प्रदेश भर में आधे से ज्यादा पटवार मंडल रिक्त पड़े हैं। उसके अनुसार जालौर जिले में कुल 318 राजस्व गांवों के 126 पटवार मंडलों के ताला लटका इससे काश्तकारों को भारी परेशानी होगी। पटवार संघ का कहना है कि अगर सरकार ने अतिरिक्त पटवार मंडलों के बहिष्कार के बावजूद भी इस ओर ध्यान नहीं दिया तो 30 जनवरी सेे आंदोलन को उग्र किया जाएगा।

इनका कहना
पटवारी पिछले 1 वर्ष से अपनी पटवार हकयात्रा कार्यक्रम में मुख्य मांग ग्रेड पे 3600 व वेतन विसंगति को दूर करने के लिए सरकार से गुहार कर रहे है। लेकिन सरकार की ओर से कोई कदम नहीं बढ़ाया गया है। ऐसे में पटवारियों में रोष व्याप्त है। जल्द पटवारियो की मांग पर सकारात्मक पहल नहीं हुई तो आंदोलन ओर भी उग्र होगा। - कैलाश डऊकिया, जिला अध्यक्ष, राजस्थान पटवार संघ जालौर

हमारे हक के लिए कर रहे है आंदोलन
गांधी वादी तरीके से विरोध करने के बावजूद सरकार कोई कदम नहीं उठा रही है। अब पटवारियों में नाराजगी बढ़ रही है।
सरकार पटवारियों की मांग पर कोई ध्यान नहीं दे रही है। हमारे हक के लिए आंदोलन कर रहे है जो वाजिब है। यदि आगामी 30 जनवरी तक सरकार ने नहीं सुनी तो आंदोलन को उग्र किया जाएगा। - ओमप्रकाश विश्नोई, जिला मीडिया प्रभारी, पटवार संघ, जालोर










Leave a comment