कृषि यंत्रों की खरीद पर मिलने वाले अनुदान के लक्ष्य बढ़ाये जायें:देवल

जागरूक टाइम्स 303 Mar 4, 2021

जसवंतपुरा। राजस्थान विधानसभा के छठे सत्र में आज गुरूवार को विधानसभा के प्रक्रिया तथा कार्य संचालन संबंधी नियमों के नियम 295 के तहत विशेष उल्लेख प्रस्ताव पेश कर रानीवाड़ा विधायक नारायण सिंह देवल ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के किसानों को कृषि यंत्र/उपकरण क्रय करने हेतु कृषि विभाग के माध्यम से अनुदान दिया जाता है। जिसमें प्रत्येक जिले के हिसाब से लक्ष्य निर्धारित किए जाते हैं। प्रतिवर्ष निर्धारित किए जाने वाले लक्ष्यों से कहीं अधिक संख्या में किसानों द्वारा ई-मित्र पोर्टल के माध्यम से “राज किसान साथी" पोर्टल पर आवेदन प्राप्त होते हैं। ऐसी स्थिति में जिन किसानों को यंत्र खरीदना बहुत आवश्यक होता है, वो अनुदान हेतु कृषि विभाग द्वारा जारी की जाने वाली प्रशासनिक स्वीकृति का इन्तजार नहीं कर पाता है और यंत्र/उपकरण क्रय कर लेता है।

बिना प्रशासनिक स्वीकृति के यंत्र क्रय कर लेने के कारण उस किसान को अनुदान नहीं मिल पाता है और अगर प्रशासनिक स्वीकृति का इन्तजार करता है, तो राज्य सरकार द्वारा जिलों को आवंटित लक्ष्यों के अनुरूप उसका नम्बर कई वर्षों तक नहीं आ पाता है। उदाहरण के लिए हमारे जालोर जिले हेतु वित्तीय वर्ष 2020-21 में कुल 58 आवेदकों को ही अनुदान दिया गया, जबकि वर्ष 2019-20 में 847 आवेदन विभाग को प्राप्त हुए थे, जो अनुदान के लक्ष्य उपलब्ध नहीं होने के कारण निरस्त कर दिये गये। इसलिए मैं इस विशेष उल्लेख प्रस्ताव के माध्यम से माननीय कृषि मंत्री महोदय से निवेदन करना चाहूंगा कि कृषि विभाग के “राज किसान साथी" पोर्टल पर पंजीकृत आवेदनों को ही लक्ष्य मानकर किसानों को कृषि यंत्र/उपकरणों की खरीद हेतु प्रशासनिक स्वीकृतियाँ जारी करवाकर अनुदान राशि उपलब्ध करवाई जाये।


Leave a comment