रबी सीजन के लिये पानी नहीं छोडऩे से उखड़े किसान, नर्मदा डाक बंगले में धरना प्रदर्शन कर जताया रोष

जागरूक टाइम्स 229 Nov 24, 2020

सांचौर: रबी सीजन को लेकर सिंचाई के लिये पानी देने की मांग को लेकर सोमवार को बड़ी सं या में किसानो ने नर्मदा डाक बंगले में धरना देकर अधिकारियो के लिये रोष जाहिर करते हुए पानी हक का पूरा पानी देने की मांग करते हुए विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान नर्मदा डाक बंगले में किसानो ने धरना शुरू कर दिया। वहीं विभाग के अधिकारियो को मौका स्थल पर बुलाने की मांग करने लगे। इस दौरान किसानो ने बताया कि विभाग के अधिकारियो की पूर्व में आयोजित हुई बैठक में ३ नव बर को पानी देने की सहमति दी गई थी, किन्तु आत रबी सीजन के २० दिन से ज्यादा का वक्त बीत जाने के बाद भी पानी नहीं दिया जा रहा है, ऐसे में किसानो ने विभाग कें भरोसे पर खेत तैयार कर बीज डाल दिये, जिसकी वजह से किसानो को भारी नुकसान हो रहा है । किसानो ने बताया नर्मदा विभाग के अधिकारियो कों लिखित व मौखिक रूप से अवगत करवाने के बावजूद भी समस्या की ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है, हैड के किसान भी पानी के लिये धरने पर बैठे है ऐसे में टैल के किसानो के हाल बुरे है। किसानो ने उनकी समस्याओं को गं ाीरता से नहीं सुनने पर आंदोलन की चेतावनी दी है। इस दौरान किसान डिग्गी यूनीयन सहित कई किसान संगठनो ने धरना प्रदर्शन में हिस्सा लिया। वहीं धरने को पूर्व विधायक जीवाराम चौधरी, राव मोहनसिंह, ईशराम बिश्नोई, महावीरसिंह दांतिया, हिन्दूसिंह दूठवा सहित कई जनो संबोधित किया। इस दौरान बावरला सरपंच रायसिंह चौधरी, गुलाबसिंह, केसाराम मेहरा, जोधाराम चौधरी, तालब खां, भूपाराम, नारणाराम, सोनाराम, भंवरलाल, इन्द्रसिंह, भगवानसिंह, लखमाराम, सांवलाराम माली, मेवाराम, लादूराम बिश्नोई, रेवतसिंह, चमनसिंह, गुमानसिंह राव, मालाराम, दलपतसिह, मेवाराम, खंगाराराम सहित कई जने मौजूद थे।
 
पूर्व विधायक बोंले मंत्री के आवास के समक्ष धरना दो - नर्मदा नहर डाक बंगले में पानी की मांग को लेकर धरने पर बैठे किसानो की समस्या सुनने पहुंचे पूर्व विधायक जीवाराम चौधरी ने किसानो के हक की लड़ाई में साथ होने की बात कहते हुए कहा कि नर्मदा डाक बंगले में सवेरे से ही धरने पर बैठे जिससे समस्या का समाधान नहीं हो सकता, विभाग के अधिकारी बात नहीं सुन रहें है तो वन एवं पर्यावरण मंत्री के आवास के समक्ष धरना देकर समस्या रखो ताकि समस्या का त्वरित समाधान हो सके। इस दौरान मौजूद लोगो ने डाक बंगले में धरना देने की बात कही।

किसानो की मांग २७ क्यूसैक पानी चाहिये, मिल रहा है १ हजार क्यूसैक- किसानो ने अपनी मांग में बताया कि रबी की सीजन के लिये २७ सौ क्यूसैक पानी चाहिये, जबकि विभाग द्वारा वर्तमान में १ हजार क्यूसैक पानी ही दिया जा रहा है। ऐसे में किसानो समय पर रबी की सीजन के लिये पानी नहीं मिल पायेगा। किसानो ने विभाग के अधिकारियो पर समस्याओं को जानबूझकर अनदेखा करने का आरोप लगाया।
समाधान नहीं हुआ तो बैठेगें भूख हड़ताल पर - धरने पर बैठे किसानो ने सीएम के नाम भेजे ज्ञापन में बताया कि सोमवार सांय तक समस्या का समाधान नहीं होने पर वे मंगलवार से अनिश्चतकालीन भूख हड़ताल शुरू कर देगें।

११ डिग्गी अध्यक्षे ने दिया धरना - रबी की सीजन में पानी छोडऩे की मांग को लेकर ११ डिग्गी अध्यक्ष भी किसानो के साथ धरने में शामिल हुए जिसमें भीमगुड़ा ,वंाक, सांचौर लि ट, रतौड़ास, जैसला, इसरोल, पनोरिया, भदराई, माणकी, बालेरा, दूठवा सहित अन्य डिग्गी अध्यक्ष भी शामिल हुए। जिन्होने किसानो के रबी की सीजन के हिस्से पूरा २७ सौ क्यूसेक पानी छोडऩे की मांग की।


Leave a comment