भीनमाल : पुलिस-प्रशासन व समाज प्रतिनिधियों के बीच वार्ता विफल, बुधवार को दूसरे दिन धरना जारी

जागरूक टाइम्स 292 Mar 3, 2021

बालिका अपहरण व उसकी मां द्वारा आत्महत्या के बाद भोमिया राजपूत समाज में आक्रोश

भीनमाल। निकटवर्ती थूर गांव में गत २३ फरवरी को नाबालिग लड़की के अपहरण की घटना से आहत उसकी मां द्वारा आत्महत्या के दूसरे दिन बुधवार देरशाम तक शव नही लेने की वजह से अंतिम संस्कार नही हो सका। मामले को लेकर पुलिस-प्रशासन व भोमिया राजपूत समाज के प्रतिनिधियों के बीच करीब ढा़ई घंटे की वार्ता विफल होने के बाद समाज के लोगो द्वारा धरना जारी रखने की चेतावनी ने पुलिस-प्रशासन की चिंता बढ़ा दी है। प्राप्त जानकारी के अनुसार बुधवार दोपहर करीब दो बजे जालोर पुलिस उप अधीक्षक कैलाशचंद्र विश्रोई, भीनमाल थानाधिकारी दुलीचंद गुर्जर व आहोर थानाधिकारी घेवरसिंह धरनास्थल पहुंचे।

यहां करीब आधा घंटे तक समझाइश का दौर जारी रहा। इस दौरान धरनार्थियो द्वारा पुलिस-प्रशासन के विरूद्व नारेबाजी की वजह से बात नही बनी। करीब तीन बजे उपखंड अधिकारी कार्यालय में अतिरि1त पुलिस अधीक्षक अनुकृति उज्जैनिया, भीनमाल उपखंड अधिकारी ओमप्रकाश चौधरी, जसंवतपुरा उपखंड अधिकारी शैलेन्द्रसिंह चारण, भीनमाल पुलिस उप अधीक्षक शंकरलाल, जालोर पुलिस उप अधीक्षक कैलाशचंद्र विश्नोई, भीनमाल थानाधिकारी दुलीचंद गुर्जर व आहोर थानाधिकारी घेवरसिंह और भोमिया राजपूत समाज के प्रतिनिधि ऊमसिंह राठौड़ चांदराई, भाजपा युवा नेता सर्जनसिंह राठौड़, टीकमसिंह राणावत, पूर्व पार्षद पुखराज विश्रोई व पीडि़त परिवार के दो सदस्यों की मौजूदगी में वार्ता हुई।

जिसमें भोमिया राजपूत समाज द्वारा रामसीन थानाधिकारी गिरधरसिंह को हटाने, आरोपियों को गिर3तारी व अपृहत बालिका को दस्तयाब कर परिजनो को सुपुर्द करने की मांग रखी। पुलिस-प्रशासन द्वारा आरोपियो को गिर3तार व अपृहत बालिका को दस्तयाब करने के लिए अलग-अलग पुलिस द्वारा संभावित स्थानो पर दबिंश की कार्यवाही जारी होने व तत्काल गिर3तार करने का विश्वास दिलाया। वही थानाधिकारी को अस्थाई तौर पर हटाकर जांच के बाद आवश्यक कार्यवाही का विश्वास दिलाया। इस दौरान पुलिस अधिकारियों द्वारा जालोर एसपी व जोधपुर आईजी को भी वार्ता की प्रगति को लेकर अवगत करवाकर समाज के प्रतिनिधियो से वार्ता भी करवाई गई, लेकिन बात नही बन पाई। ज्ञात रहे कि गत २३ फरवरी को निकटवर्ती थूर गांव से एक नाबालिंग लड़की घर से गायब हो गई थी।

लड़की के परिजनों द्वारा पुलिस थाना रामसीन में दादाल निवासी नरपतसिंह, उसके पिता हड़मतसिंह व पत्नि शोभाकंवर पर भगाकर ले जाने और उसके बाद बालिका को सुराणा निवासी महेन्द्रसिंह पुत्र पदमसिंह राजपूत को सुपुर्द करने का आरोप लगाया था। रामसीन पुलिस ने पो1सो ए1ट के तहत मामला दर्ज कर जांच के दौरान घटना से आहत अपृहत लड़की की मां हवियाकंवर ने सोमवार रात्रि को उसके रहवासी मकान में शरीर पर केरोसीन डालकर आत्महत्या कर ली थी। घटना के बाद शव को स्थानीय राजकीय अस्पताल स्थित मोर्चरी में लाया गया था। यहां भोमिया राजपूत समाज व थूर के ग्रामीणों द्वारा पुलिस कार्यवाही से नाराज होकर पीएम करवाने व शव लेने से इंकार करते हुए मंगलवार को स्थानीय एसडीएम कार्यालय के समक्ष धरना प्रांरभ किया। जो बुधवार को दूसरे दिन जारी रह0ा। इस अवसर पर भाजपा नेता शेखर व्यास, इंद्रसिंह निंबावास,ख्उतमसिंह भाटी सहित बड़ी सं2या में समाज के लोग मौजूद थे।



Leave a comment