जालोर-आहोर मार्ग पर आरओबी निर्माण की स्वीकृति जारी

जागरूक टाइम्स 246 Feb 25, 2021

- 92 करोड़ 40 लाख में होगा 1.06 किमी चार लाईन आरओबी निर्माण

जालोर। राष्ट्रीय राजमार्ग-325 जालोर-आहोर मुख्य मार्ग पर स्थित रेलवे समपार सी-48 पर चार लाइन रोड ओवर ब्रिज (आरओबी) निर्माण के लिए सडक परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय भारत सरकार द्वारा राशि 92 करोड़ 40 लाख रूपये की स्वीकृति जारी की गई हैं। इसमे सांसद देवजी एम पटेल ने प्रेसनोट जारी कर बताया कि जिलेवासियों को केंद्र सरकार ने आरओबी की सौगात दी है और इसके लिए पूरे प्रयास किए गए है।
बालोतरा-जालोर-सांडेराव नेशनल हाईवे घोषित होने के बाद जिला मुख्यालय के पास स्थित सबसे महत्वपूर्ण सी-48 ओवरब्रिज का मामला रेल मंत्रालय और सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय अटक पड़ा था। पहले नेशनल हाइवे की ओर से इसका निर्माण करवाया जाना था, लेकिन बाद में एजेंसी को लेकर पशोपेश की स्थिति के चलते यह काम अटक गया है।

जिसका स्थानीय सांसद देवजी एम. पटेल ने लोकसभा सत्र के दौरान तथा सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय और रेल मंत्रालय में केन्द्रीय मंत्री सहित विभागीय अधिकारियों से व्यक्तिगत मुलाकात कर इस रोड ओवर ब्रिज का निर्माण करवाने का मुद्दा रखा था। जिसके तहत दिनांक 10 नवम्बर 2014 को रेल मंत्रालय और सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय (एमओआरटीएच) के बीच समझौता हुआ, जिसमें सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा रोड ओवर ब्रिज निर्माण करने पर सहमति बनी।

आरओबी निर्माण होने से वाहन चालकों को नहीं करना होगा इंतजार
जालोर में आहोर रोड पर सी-48 क्रॉसिंग जालोरवासियों के लिए आफत बनी हुई है। दिनभर में लगभग सेकड़ों गुड्स ट्रेनें यहां से गुजरती है, जिससे लगभग हर आधे घंटे में एक बार क्रॉसिंग बंद हो जाती है। जिसका खामियाजा वाहन चालकों को भुगतना पड़ता है। एक बार क्रॉसिंग बंद होने पर 15 से 20 मिनट तक इस क्रॉसिंग पर वाहन चालकों को इंतजार करना पड़ता है। सांसद देवजी एम. पटेल ने इसी क्रॉसिंग को प्रमुखता देते हुए उच्चाधिकारियों को तथ्यात्मक रिपोर्ट के साथ यहां आरओबी की जरुरत बताई थी। सबसे प्रमुख सी-48 जालोर-आहोर क्रॉसिंग पर आरओबी का मामला पिछले लंबे से अटका पड़ा है। जबकि बागरा और मालवाड़ा में आरओबी की स्वीकृति मिलने के साथ धरातल पर काम भी शुरू हो चुका है। वर्ष 2010 में ब्रॉडगेज होने के बाद से लगातार जालोर-आहोर मार्ग पर रेलवे ओवरब्रिज की मांग उठती रही। जोधपुर, जयपुर, पाली का ट्रेफिक इसी मार्ग पर पूरी तरह से निर्भर हैं। मेडिकल सुविधा के लिए जोधपुर जाने के लिए भी इसी क्रॉसिंग से गुजरना पड़ता है। आरओबी निर्माण होने से भविष्य में इन क्रॉसिंग पर वाहन चालकों को ट्रेनों के गुजरने के दौरान इंतजार नहीं करना होगा।

नितिन गडगरी ने सांसद देवजी पटेल को भेजा पत्र
केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने मंगलवार को सांसद देवजी पटेल को पत्र भेजा। भेजे गये पत्र में उन्होंने बताया कि जालोर-आहोर मार्ग (राष्ट्रीय राजमार्ग-325) पर स्थिति समपार संख्या 48 पर ऊपरी पुल निर्माण के लिए वार्षिक योजना 2020-21 में शामिल कर स्वीकृति प्रदान की गई है तथा मार्च, 2021 तक इसकी टेण्डर प्रक्रिया पूर्ण करके शीघ्र निर्माण कार्य प्रारंभ करवाया जाएगा। उन्होंने बताया कि जालोर बाईपास हेतु भूमि अधिग्रहण कार्य को भी वार्षिक योजना 2020-21 में शामिल किया गया हैं।

इनका कहना है
’लंबे समय से जालोर-आहोर मुख्य मार्ग (एन.एच-325) पर रेलवे समपार सी-48 पर रोड ओवरब्रिज निर्माण करवाने की मांग की जा रही थी। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय भारत सरकार द्वारा चार लाईन आरओबी निर्माण के लिये 92.40 करोड़ रूपये की स्वीकृति जारी की गई है तथा उम्मीद है जल्द ही आरओबी का निर्माण करवाया जाएगा - देवजी एम. पटेल, सांसद (लोकसभा), जालोर-सिरोही







Leave a comment