Indian Railway: सर्दी के मौसम में रेल संचालन के लिए खास तैयारियां...ये रहेगा खास

जागरूक टाइम्स 160 Nov 24, 2021

जयपुर. मौसम के बदले मिजाज के बीच हवाईयात्रा से लेकर रेल यात्रा के संचालन पर काफी असर देखने को मिल रहा है। इसके मद्देनजर सर्दी के मौसम में कोहरे की अधिकता के कारण रेलवे प्रशासन की ओर से ट्रेनों को दुर्घटनाओं से बचाने और ट्रेनों की गति बरकरार रखने के लिए कई इंतजाम किए हैं। उत्तर-पश्चिम रेलवे के जयपुर और बीकानेर मंडल के रेलखंड कोहरे की अधिकता से सबसे ज्यादा प्रभावित होते हैं। उत्तर-पश्चिम रेलवे पर 27 रेलखंडों को कोहरे की अधिकता वाले क्षेत्रों के रूप में चिन्हित किया गया है।

हाल ही उच्चाधिकारियों ने मंडलों को इंजीनियरिंग, सिग्नल एवं दूरसंचार, विद्युत, यांत्रिक, परिचालन व संरक्षा विभागों को सभी तरह की परिस्थितियों में ट्रेनों का सुरक्षित संचालन करने के निर्देश दिए हैं। कोहरे से प्रभावित स्टेशनों पर विजिबिलिटी टेस्ट ऑब्जेक्ट उपलब्ध करवाने से स्टेशन पर दृश्यता को जांचने में मदद मिलेगी। इसके साथ ही घने कोहरे वाले रेलखंडों में चलने वाली सभी ट्रेनों के लोको पायलट और क्रू को 712 फॉग सेफ्टी डिवाइस उपलब्ध करवाए गए हैं। वहीं 175 फॉग सेफ्टी डिवाइस और उपलब्ध करवाने की प्रक्रिया जारी है। फॉग सेफ्टी डिवाइस को इंजन पर लगा दिया जाता है, यह डिवाइस चालू होने के बाद जीपीएस प्रणाली के जरिए उस खण्ड में स्थित सभी सिग्नलों की स्थिति के बारे में लोको पायलट को पूर्व में ही जानकारी देता रहता है। जिससे लोको पायलट अपनी ट्रेन की स्पीड को नियंत्रित करते हुए सुरक्षित तरीके से ट्रेन संचालित कर सकते हैं।

उत्तर पश्चिम रेलवे अधिकारियों ने बताया कि कोहरे वाले रेलखंड के स्टेशनों, समपार फाटकों और पूर्व चिन्हित जगहों पर पटाखे दिए जा रहे हैं। लोको पायलट को सिग्नल एवं अन्य संकेतकों की दृश्यता ठीक प्रकार से दिखे। इसके लिए संकेतकों पर पेंटिंग एवं चमकीले साइन बोर्ड तथा संकेतकों के पास गिट्टियों को चूने से रंगा जा रहा है। पेट्रोलिंग बढ़ाकर रेलवे ट्रैक की निगरानी को बढ़ाया गया है। वहीं रेलवे प्रशासन ने यात्रियों से यह भी अपील की है कि कोहरे के मौसम के दौरान यात्री ट्रेनों के लेट होने की स्थिति से बचने के लिए स्टेशन पहुंचने से पहले रेलवे वेबसाइट पर या हैल्पलाइन के जरिए ट्रेनों की आवागमन की स्थिति की भी जांच कर लें।

Leave a comment