Weather Update: राजस्थान के कुछ जिलों में झमाझम बारिश, शीतलहर का प्रकोप जारी

जागरूक टाइम्स 379 Jan 4, 2021

जयपुर. राजस्थान के कुछ हिस्सों में पिछले 24 घंटों के दौरान बारिश दर्ज की गई. राज्य के एक मात्र पर्वतीय पर्यटक स्थल माउंट आबू में न्यूनतम तापमान जमाव बिंदू पर दर्ज किया गया. बारिश के बाद कई हिस्सों में शीतलहर चलने से सर्दी का असर तेज हो गया है. मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि ऐरनपुरा रोड पर न्यूनतम तापमान 4.8 डिग्री सेल्सियस, फलौदी में 6.2 डिग्री, जैसलमेर में 6.4 डिग्री, बीकानेर में 7 डिग्री सेल्सियस, श्रीगंगानगर 7.3 डिग्री, बाडमेर में 9.3 डिग्री, डबोक में 9.5 डिग्री, जयपुर में 13.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

उन्होंने बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान कोटा में 15.2 मिलीमीटर बारिश, बूंदी में 5 मिलीमीटर, सवाईमाधोपुर में 3 मिलीमीटर, वनस्थली में 0.4 मिलीमीटर, और जयपुर में 0.2 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई. वहीं रविवार को राजधानी जयपुर में 6.5 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई. राज्य के प्रमुख शहरों में अधिकतम तापमान 17 डिग्री सेल्सियस से लेकर 28 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया.

शनिवार सुबह से लेकर रात तक 8.8 एमएम बारिश हुई है
वहीं, कल खबर सामने आई थी कि राजस्थान के कोटा शहर में शनिवार रात को बारिश हुई. रात को शहर के कई इलाकों में तेज बारिश हुई. इससे सड़कों पर जलभराव हो गया. मौसम विभाग के मुताबिक, कोटा शहर में 55 मिनट में 7.4 एमएम बारिश हुई. शहर के विभिन्न इलाकों में बारिश के दौरान चने के आकार के ओले गिरे हैं. वहीं, बारिश के दौरान कई इलाकों में बिजली भी गुल रही. मौसम विभाग का कहना है कि शनिवार सुबह से लेकर रात तक 8.8 एमएम बारिश हुई है.

किसानों की चिंता बढ़ी
वहीं, रविवार को भी आसमान में बादल छाए हुए थे. और धुंध और कोहरा भी छाया हुआ है. शहर में बारिश होने से सर्दी भी बढ़ गई है. खुले आसमान में गुजर-बसर करने वालों की बारिश व कड़ाके की ठंड ने मुश्किलें बढ़ाई हैं. उधर, कोटा जिले के किसानों की बिगड़े मौसम ने चिंता बढ़ा दी है. अभी रात को इटावा उपखंड इलाके में बागली पंचायत के बागली, टिकरदा, गोठड़ा, करमापुरा, संग्रामपुरा आदि दर्जनों गांव में बारिश के साथ नींबू के आकार के ओले गिरे हैं. किसानों को बारिश के साथ हुई ओलावृष्टि से खेतों में खड़ी सरसों की फसल को बड़ा नुकसान होने की आशंका है. इस बात को लेकर किसान बड़े चिंतित हैं.


Leave a comment