रोडवेजकर्मियों की 27 अक्टूबर को होगी हड़ताल

जागरूक टाइम्स 213 Oct 19, 2021

जयपुर. राजस्थान रोडवेजकर्मियों ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की उस अपील को ठुकरा दिया है, जिसमे उन्होंने प्रस्तावित हड़ताल को वापस लेने का आह्वान किया था. दरसअल रोडवेज में संयुक्त मोर्चे के बैनर तले 27 अक्टूबर को चक्काजाम हड़ताल प्रस्तावित है. यह हड़ताल रोडवेजकर्मी अपनी 11 सूत्रीय मांगों को लेकर कर रहे है जिसमें से सेवानिवृत्त कर्मचारियों के बकाया चल रहे परिलाभों के एकमुश्त भुगतान की मांग कल मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में हुई बैठक में मान ली गई है.

हालांकि, संयुक्त मोर्चे के संयोजक एमएल यादव ने बताया कि भले ही सरकार ने सेवानिवृत्त कर्मचारियों के एकमुश्त भुगतान का फैसला लिया हो लेकिन इसमें भी सरकार केवल 200 करोड़ की मदद ही कर रही है. शेष 260 करोड़ की व्यवस्था रोडवेज को लोन लेकर करनी होगी जिसका भार रोडवेज पर ही आएगा. वहीं 7वां वेतन आयोग, नई बसें, नई भर्ती और अन्य मांगों को लेकर कोई चर्चा नहीं की गई. ऐसे में हम हड़ताल का फैसला वापस नहीं लेंगे.

दरसअल, रोडवेज में प्रस्तावित हड़ताल के दिन प्रदेश में आरएएस-प्री परीक्षा होने जा रही है. इस परीक्षा में करीब 8 लाख अभ्यर्थी हिस्सा लेने जा रहे है. वहीं प्रदेश में सरकार ने प्रतियोगी परीक्षाओं में अभ्यर्थियों को फ्री में सफर करने की छूट दे रखी है. ऐसे में अगर इस दिन रोडवेज में हड़ताल होती है तो इतनी बड़ी संख्या में अभ्यर्थियों का परिवहन सरकार के सामने चुनौती बना हुआ है. संभवत: यही वजह है कि स्वयं सीएम अशोक गहलोत ने इस मामलें को गंभीरता से लेकर रोडवेजकर्मियों की एक बड़ी मांग को पूरा करने का आश्वासन दिया है.

कल ‘ढोल बजाओ, सरकार जगाओ’ कार्यक्रम
रोडवेजकर्मी कल अपने चरणबद्ध आंदोलन के 8वें चरण के तहत पूरे प्रदेशभर में ‘ढोल बजाओ, सरकार जगाओ’ कार्यक्रम मनाएंगे. इसके तहत रोडवेज की सभी इकाइयों पर सुबह 11 बजे से दोपहर 12:30 बजे तक ढ़ोल बजाने का कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा. जयपुर में सिंधी

कैम्प बस स्टैंड पर रोडवेजकर्मी
दोपहर 12:30 बजे से 2 बजे तक ढ़ोल बजाकर प्रदर्शन करेंगे. रोडवेजकर्मियों ने 26 जुलाई से प्रदेश में चरणबद्ध आंदोलन की शुरुआत की थी.

Leave a comment