फंदे से शुरू हुआ फसाद, फिर पुलिस और किसान भिड़े तो हाई वे पर मचा घमासान

जागरूक टाइम्स 139 Feb 26, 2021

दौसा. फसल बचाने के लिये जिले के कोलवा थाना इलाके के धनवाड़ गांव में महिलाओं ने शुक्रवार को विरोध का अनूठा और जानलेवा तरीका अपनाया. दर्जनों महिलायें अपने खेतों में पेड़ों पर फंदा लगाकर खड़ी हो गईं और प्रशासन से फसल नहीं नष्ट नहीं करने मांग करने लगी. इस दौरान जब पुलिस प्रशासन फसल नष्ट करने पर आमदा हो गया तो वहां किसानों से उसकी लाठी भाटा जंग हो गई और जमकर पथराव हुआ. देखिये आखिर है क्या पूरा माजरा. दरअसल दौसा से होकर दिल्ली- मुंबई एक्सप्रेस वे निकल रहा है. इस एक्सप्रेस-वे के लिए जमीन का अधिग्रहण किया गया था. स्थानीय किसानों का कहना है कि जब तक एक्सप्रेस वे नहीं बन रहा था तो उन्होंने खेतों में बुवाई कर दी. अब फसल पकने की स्थिति में है. लेकिन एक्सप्रेस वे निर्माण कंपनी की शिकायत पर आज प्रशासनिक अमला मौके पर पहुंच गया था. फसल बचाने के लिये महिलायें विरोध स्वरूप पेड़ों से रस्सी बांधकर उसके फंदे बनाकर गले में डालकर खड़ी हो गई. इस दौरान स्थानीय किसानों का कहना था कि उन्होंने काफी मेहनत करके फसल तैयार की है. इसमें काफी खर्चा भी आया है. ऐसे में 1 माह की मोहलत दी जाए ताकि उनकी फसल कट जाये. लेकिन प्रशासन ने जब किसानों की नहीं सुनी तो वहां मौजूद दर्जनों की संख्या में महिला किसान अपने खेतों में पहुंची और खेतों में उग रहे पेड़ों पर फंदा लगा लिया और आत्महत्या की चेतावनी देने लगी.

महिलाओं ने प्रशासन को चेतावनी दी कि यदि उनकी फसल नष्ट की गई तो वह जान दे देंगी. इसके बाद फसल नष्ट करने पहुंचे प्रशासनिक अमले के अधिकारियों के तेवर नरम हुये और वे किसानों से समझाइश करने में जुट गये. बातचीत से मसला सुलझता नहीं देखकर प्रशासनिक अमला फसल नष्ट करने पर अड़ गया. उसके बाद मौके पर किसानों और पुलिस के बीच विवाद हो गया. देखते ही देखते यह विवाद लाठी-भाटा जंग में बदल गया और वहां हुडदंग मच गया. विवाद के बाद पुलिस ने जब लाठियां भांजनी शुरू की तो किसानों ने सामने से पथराव शुरू कर दिया. इससे एकबारगी पुलिस पीछे हट गई. बाद में पुलिस आक्रामक होकर किसानों पर टूट पड़ी. पुलिस ने किसानों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा. इससे वहां जबर्दस्त अफरातफरी मच गई. गुस्साये किसानों और ग्रामीणों ने दिल्ली मुंबई एक्सप्रेस वे का निर्माण कार्य कर रहे वाहनों को भी निशाना बनाया और तोड़फोड़ की. इस पर पुलिस ने कुछ किसानों की धरपकड़ भी की. इस अफरातफरी में कई किसानों और ग्रामीणों के चोटें भी आई. पुलिस की लाठियों से बचते हुये भागदौड़ करते कुछ किसान जमीन पर गिर पड़े. घायलों को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है.


Leave a comment