12 मिनट में दिया था 12 करोड़ की लूट को अंजाम, NSG का बर्खास्त कमांडो गिरफ्तार

जागरूक टाइम्स 388 Oct 13, 2021

चूरू. शहर के बहुचर्चित मणप्पुरम गोल्ड लोन कम्पनी से 12 करोड़ के गोल्ड और नकदी की लूट मामले में कोतवाली पुलिस ने मास्टरमाइंड और एनएसजी के बर्खास्त कमांडो रणजीत फौजी तथा उत्तरप्रदेश के कुख्यात अमजद को बिजनौर जेल से गिरफ्तार कर लिया. रणजीत फौजी पंजाब और हरियाणा पुलिस का मोस्टवान्टेड अपराधी है तथा अमजद पर उत्तरप्रदेश में हत्या, लूट, डकैती जैसे 32 संगीन मामले दर्ज हैं.

रणजीत फौजी ने अपने साथियों के साथ 14 जून 2021 को चूरू जिला मुख्यालय पर दिनदहाड़े हथियारों के बल पर मणप्पुरम गोल्ड लोन फाइनेंस कम्पनी में 24 किलो गोल्ड व नकदी की लूट की वारदात को अंजाम दिया था. चूरू पुलिस ने मामले में तत्परता से कार्रवाई करते हुए चार आरोपियों में से सादाब व हनीश ठाकूर को 4 पिस्टल, 23 जिंदा कारतूस और 2 चाकू के साथ हरियाणा के सुरेवाला चौक से लूट के गोल्ड व नकदी के साथ गिरफ्तार कर लिया था. उस वक्त मास्टरमाइंड पंजाब के पटियाला निवासी रणजीत फौजी और हरसोली मुजफ्फरनगर का अमजद फरार होने में कामयाब हो गये थे.

थानाधिकारी सतीश कुमार यादव ने बताया कि लूट के प्रकरण का मास्टर माइंड रणजीत फौजी उर्फ कमांडो पर सात मामले दर्ज है. आपको बता दें कि शहर के सबसे व्यस्तम राममन्दिर के पास मुख्य बाजार रोड पर बदमाशों को पिस्टल की नोंक पर 12 मिनट के भीतर सोना व नकदी लूटकर फरार हो गए थे. मणप्पुरम गोल्ड लोन फाइनेंस लिमिटेड आरोपी लोन के बहाने घुसे थे.

चारों युवकों ने पिस्टल निकाल कर कर्मचारियों के सिर पर तान दी. इस दौरान एक बदमाश ने ब्रांच का शटर डाउन कर दिया. बदमाशों ने सभी ब्रांच कर्मचारियों के फोन भी छीन लिए. इससे पहले कि वो कुछ समझते बदमाशों ने बैंक में मौजूद महिला कर्मचारियों सहित अन्य के साथ मारपीट करना शुरू कर दिया और उन्हे बाथरूम में बंद कर दिया था. लूट के सोने में लगी जीपीएस चिप के कारण पुलिस ने हरियाणा से दो लोगों को सोने व नकदी सहित गिरफ्तार कर लिया था.


Leave a comment