चूरू : सिधमुख में 80 एमएम बारिश, रेलवे स्टेशन रोड में दो-दो फीट तक पानी

जागरूक टाइम्स 284 Sep 24, 2021

चूरू. जिलेभर में गुरुवार को भी बारिश का दौर जारी रहा। दोपहर में कुछ देर के लिए धूप निकली। बाद में धूप-छांव का खेल चलता रहा। कुछ देर बूंदाबांदी और कुछ देर धूप निकलने से मौसम बेरुखा सा लगने लगा। शाम को झमाझम बारिश से हमेशा की तरह निचले इलाकों में पानी भर गया। इससे लोगों की परेशानी और बढ़ गई। गांवों में बारिश के कारण अगेती फसलों की नुकसान की आशंका से किसान चिंतित नजर आए।

सुजानगढ़. शहर में गुरुवार शाम को बरसात होने से गलियो में पानी भर गया। पिछले तीन दिनों से शाम को बरसात होने से मौसम खुशनुमा बन जाता है। शाम को हुई बरसात के बाद गांधी चौक, विश्कर्मा भवन के पीछे, वाल्मिकी बस्ती, नयाबास सहित अन्य स्थानो पर पानी भर गया। किसानों का मानना है कि अब ओर अधिक बरसात होने से मूंग, बाजरा, मोठ आदि फसलो को नुकसान होने की सम्भावना है। कल्याणसर सरपंच विकास सारण ने बताया कि पश्चिमी क्षेत्र के 40-50 गांवों में बोई गई मूंगफली फसल के लिए बरसात वरदान साबित होगी।
सिधमुख. तहसील क्षेत्र के गांवों में गुरुवार को जोरदार बारिश हुई। इस दौरान खेतों में खड़ी फसलें पसर गई। तेज बारिश से रास्ते जलमग्न हो गए। इस कारण लोगों को आवागमन में परेशानी का सामना करना पड़ा। घनाऊ गांव में भी दर्जन भर से अधिक आम रास्ते पानी से जलमग्न हो गए। कस्बे में करीब एक घण्टे से अधिक तेज बारिश हुई। कस्बे के बालाजी मंदिर व सिवानी रोड पर तीन फीट तक पानी भर गया। कस्बे के मुख्य बाजार में पानी दुकानों में घुस गया। बारिश के कारण मूंग आदि की फसलें खराब हो गई।

सादुलपुर. शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र में लगातार तीन दिनों से बारिश का दौर जारी है दोपहर बाद हुई बारिश के कारण मुख्य बाजार में पानी भर गया। सिधमुख में बारिश के कारण जगह-जगह पानी भर गया। लगभग एक घंटे तक हुई बारिश से कस्बा जलमग्न हो गया। दोपहर 1 बजे बारिश का दौर शुरू हुआ। गांव राधा बड़ी, राधा छोटी, खैरु बड़ी, खैरु छोटी, भाकरा, जीराम बास, कामाण आदि गांवों में आंधे घंटे बारिश हुई है।

बीदासर. कस्बे मे गुरूवार को आज चौथे दिन भी दोपहर एक बजे बाद बुंदाबादी का दौर जारी रहा। जिससे कस्बे के मुख्य मार्गो पर कीचड़ फैल गया। इससे लोगों को को परेशानी उठानी पड़ी। सांखू फोर्ट. क्षेत्र में गुरुवार को झमाझम बारिश हुई। घरों में पानी घुस गया। मुख्य मार्गो व गलियों में पानी-पानी हो गया। डाबला ढाणी निवासी किसान रोहताश डेरूवाल ने बताया कि ***** मास में बारिश जैसी इस वर्ष हुई है वैसी पिछले 20,25 साल में नहीं हुई। मौसम सही हो तो पछेती फसल में अच्छा उत्पादन हो सकता है साथ ही अगेती फसल में लगातार बारिश नुकसानदेह साबित हो रही है।

Leave a comment