बाड़मेर एसीबी की बड़ी कार्यवाही रिश्वत लेते बाबू गिरफ्तार

जागरूक टाइम्स 275 Jun 24, 2021

बाड़मेर। बाड़मेर में एसीबी की ओर से बड़ी कार्रवाई की गई है। इसमें बेरोजगारी भत्ता दिलवाने की एवज में एक हजार की रिश्वत लेते हुए रोजगार कार्यालय के कनिष्ठ सहायक को रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया है। राज्य सरकार ने बेरोजगारों को बेरोजगारी भत्ता देने की योजना शुरू की, लेकिन रोजगार कार्यालय में बेरोजगारी भत्ते के नाम पर रिश्वत दी जा रही है। इसका खुलासा बुधवार को एसीबी की कार्रवाई में हुआ। जिसमें बेरोजगार युवक ने बेरोजगारी भत्ता देने के लिए रोजगार कार्यालय में फॉर्म भरा तो वहां के कनिष्ठ सहायक ने तीन हजार की रिश्वत मांग ली। इस बात की शिकायत युवक ने एसीबी में कर दी। जिसके बाद एक हजार की रिश्वत लेते हुए कनिष्ठ सहायक को एसीबी ने रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। राजस्थान में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की ओर से पिछले कई दिनों से ताबड़तोड़ तरीके से भ्रष्ट अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। इसी कड़ी में सरहदी बाड़मेर में बेरोजगारी भत्ता दिलवाने की एवज में एक हजार की रिश्वत लेते हुए रोजगार कार्यालय के कनिष्ठ सहायक को रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। बाड़मेर एसीबी के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रामनिवास ने बताया कि एक दिन पहले परिवादी नेमाराम ने परिवाद पेश किया था कि मार्च 2021 में बेरोजगारी भत्ता स्वीकृति के लिए ऑनलाइन आवेदन किया था। रोजगार कार्यालय बाड़मेर के कनिष्ठ सहायक सुधीर वर्मा ने बेरोजगारी भत्ता स्वीकृत कराने के एवज में तीन हजार रुपए रिश्वत की मांग की। जिस पर परिवादी ने एक हजार रुपए तत्काल दे दिए थे। वहीं, बाकी के दो हजार के लिए परिवादी को लगातार परेशान कर रहा था। उन्होंने बताया कि जिस परिवादी ने एसीबी में इसकी शिकायत की, उसका गोपनीय सत्यापन करवाने के बाद कार्रवाई को अंजाम देते हुए रोजगार कार्यालय बाड़मेर के कनिष्ठ सहायक सुधीर वर्मा को एक हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए ट्रैप किया गया है।

Leave a comment