कशीदाकारी सिखाने के लिए मिला 1 लाख का पैकेज

जागरूक टाइम्स 635 Nov 30, 2019



बाड़मेर की पहचान कशीदाकारी कार्य अब भारत – चाइना बोर्डर पर स्थित उतराखंड के माणागाँव की महिलाओं को भी रोजगार प्रदान करेगा । जिसके लिए ग्रामीण विकास एवं चेतना संस्थान की दस्तकार सुगड़ी देवी इन महिलाओं को दो महीने का प्रशिक्षण प्रदान करेगी । इस कार्य के बदले सुगड़ी देवी को एक लाख रूपये का मानदेय मिलेगा । ग्रामीण विकास एवं चेतना संस्थान की अध्यक्ष रूमा देवी ने बताया की उतराखंड के माणागांव के आदिवासी परिवार बुनाई कार्य करते है इस बुनाई कार्य के साथ बाड़मेर की कशीदाकारी को शामिल कर उत्पाद तैयार किये जायेंगे । जिसके माध्यम से वहां की महिला दस्तकारों को रोजगार के अधिक अवसर प्राप्त हो सकेंगे

कोन है सुगडी देवी –सुगड़ी देवी एम्ब्रायडरी कार्य की दक्ष दस्तकार है । इनका परिवार विस्थापन के दौरान धनाऊ आकर बचा । वर्तमान में ये बाड़मेर के इंद्रा नगर में रह कर कशीदाकारी कार्य कर रही है । अपना सब – कुछ वहां छोड़ कर आने के बाद इनके पास सिर्फ हाथ का हुनर था, जिसके बल पर इन्होने अपने परिवार को रोजगार प्रदान करने का कार्य किया । सुगड़ी देवी अंतर्राष्ट्रीय फैशन डिज़ाइनर रुमा देवी के निर्देशन में महिला दस्तकारों को प्रशिक्षण प्रदान करने एवं फैशन शो के उत्पाद बनाने का कार्य कर रही है । इनके द्वारा निर्मित उत्पाद देश – विदेश के विभिन्न फैशन शो में प्रदर्शित होते है । हस्तशिल्प के क्षेत्र में इनके द्वारा दिए गये उल्लेखनीय योगदान के मद्देनजर जिला प्रशासन बाड़मेर द्वारा १५ अगस्त को उन्हें प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया जा चूका है ।

इस अवसर पर सुगड़ी देवी ने बताया की कशीदाकारी कार्य ही उनके परिवार की आय का जरिया है । इस कार्य से अपने परिवार के लालन पालन करने के साथ अपने बच्चों को शिक्षा प्रदान करने का कार्य कर रही है । इनकी बड़ी बेटी हेमलता स्ञ्जष्ट, क्च.श्वस्र, छोटा बेटा जगदीश आईटीआई तक पढ़ चूका है । तीसरी बेटी दुर्गा १२ वीं एवं बेटा रवि ११वीं में पढ़ रहा है । इस प्रशिक्षण से प्राप्त होने वाले पैकेज से वो अपने छोटे बेटे एवं बेटी को भी उच्च शिक्षा प्रदान करने का कार्य करेगी ।


Leave a comment