बाड़मेर : इनकम टैक्स पर छूट के साथ मिलेगा अन्य एफडी से सबसे ज्यादा ब्याज़

जागरूक टाइम्स 274 Oct 1, 2020

बाड़मेर । पीपीएफ यानी लोक भविष्य निधि, एक ऐसी सेविंग स्कीम है जो अच्छे ब्याज के साथ-साथ टैक्स सेविंग भी कराती है। भारत सरकार की इस योजना का उद्देश्य यह हैं कि असंघठित क्षेत्र के जिन कर्मचारियों के लिए ईपीएफ़, पेन्शन आदि की सुविधा नहीं है, उन्हे भी अपने भविष्य के लिए पैसा बचाने का मौका मिले। सरकार ने पीपीएफ को हर तरह के टैक्स से मुक्त रखा ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इस योजना को अपनाएं। इसी सन्दर्भ में, अधीक्षक डाकघर बाड़मेर श्री उदय शेजू ने बताया कि पीपीएफ खाते खोलने हेतु डाक विभाग द्वारा दिनांक 01 अक्टूबर 2020 से 30 अक्टूबर 2020 तक लोक भविष्य निधि (पी.पी.एफ़.) खातें खोलने बाबत एक महाअभियान चलाया जायेगा। इस अभियान के तहत कोई भी नागरिक अपना पीपीएफ खाता अपने नजदीकी डाकघर में खुलवा सकते हैं। यहां तक कि इसमें उम्र का भी कोई बंधन नहीं है। अपने बच्चे चाहे लड़का हो या लड़की सभी के लिए पीपीएफ खाता खुलवा सकते हैं।

योजना की आगे जानकारी देते हुए सहायक अधीक्षक डाकघर (मुख्यालय) बाड़मेर, श्री सुदर्शन सामरिया ने बताया कि वर्तमान में चल रही समस्त बचत योजनाओं में से, इस योजना में सबसे ज्यादा ब्याज दर मिलती है। मौजूदा समय में पीपीएफ खाताधारकों को 7.1 फीसदी ब्याज मिल रहा है,जो किसी बचत खाते या कई एफडी विकल्पों में से सर्वाधिक है। वैसे सरकार हर तीन महीने बाद पीपीएफ के ब्याज दर की समीक्षा करती है। लेकिन आमतौर कोशिश होती है कि इसके रेट को आकर्षक रखा जाए। पीपीएफ में साल में अधिकतम 1.5 लाख रुपये का निवेश किया जा सकता है। पीपीएफ खाते में हर साल न्यूनतम 500 रुपये का निवेश करना जरूरी है। पहले पीपीएफ खाते में एक साल के अंदर 12 बार से ज्यादा पैसा नहीं जमा कर सकते थे, परन्तु अब इस लिमिट को खत्म कर दिया गया है। अब पीपीएफ खातें में चाहे जितनी बार पैसा जमा कर सकते हैं। योजना की मैच्योरिटी अवधि 15 साल है, मगर इसे आगे बढ़ाया जा सकता हैंI पीपीएफ पर मिलने वाला ब्याज टैक्स फ्री होता है।

वहीं दूसरी तरफ अन्य फिक्स्ड डिपॉजिट का ब्याज टैक्सेबल होता है। पीपीएफ खाता मैच्योर होने पर मिलने वाली राशि भी पूरी तरह से टैक्स फ्री होती है। इस खाते को अगले पांच साल के लिए फिर बढ़ा सकते हैं। ये वाले पांच साल खत्म हो जाए तो आगे फिर इस खाते को पांच साल के ब्लॉक के लिए एक्सटेंड कर सकते हैं। पीपीएफ के एक्सटेंशन के दौरान भी पहले की तरह ब्याज मिलता रहेगा। खाते में पांच साल का लॉक इन भी होगा, लेकिन ये नए इन्वेस्टमेंट पर ही लागू होगा। पहले से जमा पैसे को आप बेझिझक निकाल सकते हैं। पीपीएफ खाते को किसी अन्य डाकघर या बैंक में ट्रांसफर किया जा सकता है। इसके लिए कोई शुल्क नहीं लगता।

अधीक्षक डाकघर बाड़मेर श्री उदय शेजू ने ने बाड़मेर मण्डल के समस्त निरीक्षक डाकघरों, उपडाकपालों और शाखा डाकपालों से अपील की है कि बाड़मेर मण्डल को जब भी कोई लक्ष्य दिया गया, इस मण्डल के अधिकारियों/कर्मचारियों ने अथाह परिश्रम करके उसे पूरा करने का भरसक प्रयास किया है और उसमें सफल भी रहें हैं I अत: हर बार की भान्ति, इस लोक भविष्य निधि (पी.पी.एफ़.) खातें खोलने बाबत इस महाअभियान को भी सफल बनाना हैं और ज्यादा से ज्यादा लोक भविष्य निधि (पी.पी.एफ़.) खातें खोलकर शहरी जनता के साथ साथ, इस योजना का लाभ सुदूर ग्रामीण जनता तक भी पहुँचाना हैं I


Leave a comment