गुजरात: कोरोना की रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर महिला ने किया सुसाइड

जागरूक टाइम्स 401 Apr 20, 2021

राजकोट. कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में प्रशासनिक व्यवस्थाएं बौनी साबित हो रही हैं. दूसरी ओर कोरोना के कारण लोगों का मनोबल गिर रहा है. मंगलवार को राजकोट में रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर समरस हॉस्टल में भर्ती महिला ने सुबह चार बजे पांचवीं मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली. दो दिन पहले गोंडल के वासावद गांव में एक कोरोना संक्रमित मरीज ने दरगाह के अंदर गला काट कर आत्महत्या कर ली थी.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, राजकोट शहर में मोरबी रोड पर तिरुपति सोसायटी की निरुबेन नामक महिला को सोमवार को अपनी रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद समरस हॉस्टल में भर्ती कराया गया था. लेकिन मंगलवार की सुबह लगभग 4 बजे उन्होंने 5वीं मंजिल की बालकनी से कूदकर आत्महत्या कर ली. मामले की जानकारी मिलते ही हॉस्पिटल स्टाफ पहुंचा और उसने इसकी जानकारी पुलिस को दी. नाइट ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर अंकुर पटेल ने पुलिस स्टेशन में घटना की सूचना दी थी. निरुबेन के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए राजकोट शहर के सिविल अस्पताल में पोस्टमार्टम रूम में स्थानांतरित कर दिया गया था.

गुजरात हाईकोर्ट ने कहा था- कोरोना के सही आंकड़े सामने रखें
गौरतलब है कि कोरोना के खिलाफ कदमों को लेकर गुजरात सरकार को हाईकोर्ट से फटकार मिली थी. गुजरात में कोविड-19 के मामलों में अचानक हुई बढ़ोतरी की पृष्ठभूमि में ईमानदारी और पारदर्शिता पर जोर देते हुए हाईकोर्ट ने कहा था कि राज्य सरकार आरटी-पीसीआर जांच और संक्रमित लोगों के वास्तविक आंकड़ों को जारी करे. कोर्ट ने कहा था कि कोविड-19 जांच और संक्रमितों की संख्या को लेकर सरकार द्वारा जारी किए जाने वाले आंकड़े सही नहीं होने को लेकर आम लोगों की धारणा को दूर करने के लिए पारदर्शिता की जरूरत है.

Leave a comment