ससुर व पति ने जिंदा जलाने का किया प्रयास, 80 प्रतिशत विवाहिता झुलसी

IANS | Jul 7, 2018

बाड़मेर - केंद्र व राज्य सरकार बेटी- बचाओ, बेटी-बचाओ के नारे बुलंद कर रही है और बेटियों की सुरक्षा के लिए महिला आयोग सहित विभिन्न कायदे कानून बनाए गए है। लेकिन, सरकार के दावे कहीं ना कहीं धूमिल होते नज़र आ रहें है। आजादी के 70 साल बाद भी देश की बेटियां अपने आपको असुरक्षित महसूस कर रही है और लगातार बेटियों पर अत्याचार की घटनाएं सामने आती रही है.