पैतृक जमीन को लेकर बुजुर्ग का अनशन दूसरे दिन भी जारी

IANS | Jul 12, 2018

रेवदर तहसील के आसावा गांव निवासी 80 वर्षीय छोगाराम पुत्र कुपाराम सुथार ने बुधवार के दिन जिला कलेक्टर को एक ज्ञापन सौंपा था जिसमें उन्होंने अपनी पैतृक जमीन अन्य ग्रामीणों को आवंटित किए जाने की शिकायत की थी। कलेक्टर से संतोषजनक उत्तर नहीं मिलने पर छोगाराम सुथार एवं उनकी 72 वर्षीय पत्नी श्रीमती चंपा देवी आसावा ग्राम सभा भवन के सामने धरने पर बैठ गए थे।

धरना दूसरे दिन भी जारी रहा। गुरुवार को चिकित्सा अधिकारियों ने छोगाराम सुथार के स्वास्थ्य का परीक्षण भी किया। धरना स्थल पर उनसे मिलने आने वालों का तांता लगा रहा। छोगाराम सुथार ने जागरूक टाइम्स संवाददाता को बताया कि वर्ष 1962 में खातेदारी में उनको आवंटित जमीन पर उन्होंने वर्षों तक खेती की है।

उम्र होने से अब उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं रहता और बच्चे भी कामकाज के लिए ज्यादातर बाहर रहते हैं। ग्राम सभा आसावा ने अब उक्त जमीन गांव के अन्य लोगों को आवंटित कर दी है। उनका कहना है कि कई वर्षों से भटकने के बाद भी कार्यवाही तो दूर संतोषजनक जवाब तक नहीं मिला है।

उन्होंने यह भी कहा कि गुरुवार सुबह पुलिस अधिकारी पुलिसकर्मियों के साथ आए थे और हमारा धरना प्रदर्शन बंद करवाने की कोशिश की थी। हमारे जागरूक टाइम्स संवाददाता ने संबंधित अधिकारी से इस बारे में जानकारी लेने की कोशिश की लेकिन संपर्क नहीं हो पाया।