निराश करती जब हैरी मेट सेजल

जागरूक टाइम्स 92 May 24, 2018
डायरेक्टर इम्तियाज अली की फिल्म जब हैरी मेट सेजल सिनेमा हॉल में रिलीज हो गई है। वैसे तो इम्तियाज डिफरेंट फिल्मों के लिए जाने जाते हैं। लेकिन कैसी बनी है यह फिल्म आइए जानते हैं। यह कहानी टूरिस्ट गाइड हैरी यानि शाहरुख खान और एक गुजराती लड़की सेजल (अनुष्का शर्मा) की है। कहानी की शुरुआत यूके से होती है, जहां सेजल अपने फियोन्से से इंगेजमेंट करती है। जब इस कपल को वापस इंडिया लौटना होता है तो सेजल की सगाई वाली रिंग खो जाती है। ऐसे में सेजल उसे ढूंढऩे के लिए यहीं रुक जाती है तभी उसकी मुलाकात टूरिस्ट गाइड हैरी से होती है। जिसकी मदद से वो रिंग की तलाश करती है लेकिन इसी बीच सेजल और हैरी को एक-दूसरे से प्यार होने लगता है। हालांकि सेजल उसे बार-बार कहती है कि रिंग मिलते ही वो चली जाएगी। ऐसे में अब सेजल को रिंग मिलती है या नहीं, क्या फिर वो हैरी के साथ ही यूके में रुक जाती है, यह जानने के लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी। * डायरेक्शन फिल्म का डायरेक्शन अच्छा है। साथ ही सिनेमेटोग्राफी और कैमरा वर्क भी अच्छे से किया गया है। इम्तियाज की फिल्में वैसे तो लंबी होती है हालांकि यह फिल्म टाइम के हिसाब से तो शॉर्ट है लेकिन फिर भी बोर करती है। कहानी में कोई खास नयापन नहीं है। * स्टारकास्ट की परफॉर्मेंस फिल्म में शाहरुख और अनुष्का ने अच्छी एक्टिंग की है। कहानी दोनों के इर्द-गिर्द है। ऐसे में पूरा फोकस सिर्फ इन्हीं पर रहता है। फिल्म में गुजराती गर्ल का कैरेक्टर प्ले कर रहीं अनुष्का का फेस थोड़ा मोटा दिखाया गया है। बाकी दोनों स्टार्स का काम अच्छा है। * फिल्म का म्यूजिक फिल्म का म्यूजिक ठीक-ठाक है। स्क्रीन प्ले में गानों की एडिटिंग की जा सकती थी। बाकी बैकग्राउंड स्कोर अच्छा है। * देखें या नहीं अगर आप शाहरुख खान और अनुष्का शर्मा के फैन हैं तो आप यह फिल्म देख सकते हैं।

Leave a comment