आईपीएल में नहीं खरीदे जाने से निराश हैं मनोज तिवारी

जागरूक टाइम्स 159 Dec 19, 2018

मुम्बई (ईएमएस)। आईपीएल के 12 सत्र के लिए हुई नीलामी में जहां कई अंजान से खिलाड़ियों को टीमों ने करोड़ों की रकम देकर खरीदा है। वहीं मनोज तिवारी को एक भी टीम ने नहीं खरीदा जबकि मनोज ने भारतीय टीम की ओर से 12 एकदिवसीय और तीन टी20 खेले हैं। इससे मनोज बेहद निराश नजर आये। इस सत्र में आईपीएल बोली में मनोज ही पहले खिलाड़ी थे जिनसे बोली की शुरुआत हुई लेकिन वो पहली बोली में ही अनसोल्ड चले गए।

इसके बाद भी दूसरी बार भी उन्हें कोई खरीदार नहीं मिला। इसके बाद देर रात मनोज ने अपनी पुरानी यादों को साझा करते हुए सोशल मीडिया पर लिखा, 'मुझे समझ नहीं आता मैंने क्या गलत किया। जब मुझे देश की वनडे टीम से 14 मैचों के लिए निकाला गया तो मैंने उससे पहले मैच में शतक बनाया और मैन ऑफ द मैच भी जीता था। अब जब मैं 2017 आईपीएल के दौरान मिले अपने अवार्ड्स को देखता हूं तो सोचता हूं कि मैंने क्या गलत किया?'

मनोज 2008 से शुरु हुए आईपीएल में पूरे 11 सीज़न तक खेले हैं लेकिन इस बार उन पर किसी ने भी दांव नहीं लगाया. दरअसल मनोज के लिए आईपीएल सीज़न 2017 बेहद शानदार रहा था। उन्होंने राइज़िंग पुणे सुपरजाएंट्स की जर्सी में 15 मुकाबले खेले जिसमें इन्होंने 324 रन और 2 अर्धशतक भी लगाए थे। इसके बाद पिछले सीज़न उनपर किंग्स की टीम ने एक करोड़ की कीमत में दांव लगाया था लेकिन वो यहां पर 5 मैचों में सिर्फ 47 रन ही बना सके जिसके बाद इस सीज़न उनपर किसी भी टीम ने दांव नहीं लगाया। मनोज ने आईपीएल में कुल 98 मैच खेले हैं जिसमें उन्होंने 1695 रन बनाए हैं। इसके बाद भी इस खिलाड़ी के प्रति टीमों की बेरुखी समझ से परे है।


Leave a comment