पगली कहें या मेंटल, फर्क नहीं पड़ता

जागरूक टाइम्स 1002 Jul 11, 2019

-कंगना रणौत के बिंदास बोल

मुंबई (ईएमएस)। बॉलिवुड की बेहतरीन ऐक्ट्रेस कंगना रणौत को इंडस्ट्री के कुछ लोग असल लाइफ में पगली कहते हैं, यह बात कई बार खुद कंगना ने भी मानी है। जब कंगना सवाल किया गया कि 'मेंटल है क्या' जैसी फिल्म के लिए आपको अप्रोच किया गया तो आपका पहला रिऐक्शन क्या था? जब आपकी फिल्म का पहला पोस्टर आया तब भी लोगों ने कहा था कि फिल्म का यह नाम कंगना पर फिट बैठता है। बिंदास कंगना ने जवाब देते हुए कहा - मेरी जिंदगी में एक ऐसा समय जरूर आया था, जब फिल्म इंडस्ट्री के लोगों ने यह कहकर मुझे शर्मशार करने की कोशिश की थी कि कंगना को दिमागी प्रॉब्लम है, मेडिटेशन पर है, तभी ऐसे क्लेम कर रही है (यहां कंगना, रितिक रोशन के साथ अफेयर के बारे में क्लेम करने की बात कर रही हैं ) मैंने उन तमाम बातों का जवाब दिया था कि मैं किसी तरह के मेडिटेशन में नहीं थी, इसलिए मुझे उनकी बातों को लेकर किसी तरह की कोई शर्मिंदगी नहीं हुई।'

फिल्म की कहानी को अपनी जिंदगी से रिलेट करती हुई कंगना कहती हैं, 'जब कनिका ढिल्लन ने मुझे यह कहानी सुनाई, कहानी सुनने के बाद मुझे इस मेन्टल वाली बात से सहानभूति ज्यादा हो गई। यह रोल सुनने के बाद लगा जैसे मेरी ही कहानी है। अगर साल 2016-2017 का दौर मेरी जिंदगी में नहीं आता तो मैं कभी इस कहानी से खुद को रिलेट नहीं कर पाती। मुझे यह इशू समझ में भी नहीं आता। अब एक लड़की को जब सारे लोग जब पगली-पगली कहकर बुलाते हैं और वह भी थोड़ी ऑफ बीट है तो रिलेट करती हूं इस रोल से।' कंगना आगे कहती हैं, 'अब ऐसी कहानी, जिससे मैं खुद को रिलेट करती हूं, जब मेरे पास आती है तो न तो मुझे यह कॉम्पलिमेंट की तरह लगता है और न ही इस कहानी के अप्रोच किये जाने से खुद को मैं अपमानित महसूस करती हूं।

मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता, मैं सहज हूं, चाहे कोई मुझे पगली कहे, मेंटल कहे, झांसी की रानी कहे, वो लम्हे की लड़की कहे, गैंगस्टर की लड़की समझे, तनु या दत्तो समझते हैं, यह सब मेरे लिए न कॉम्पलिमेंट है, न ही अपमान है।' कंगना रानौत की फिल्म 'जजमेंटल है क्या' 26 जुलाई को देशभर के सिनेमाघर में एक साथ रिलीज़ हो रही है। कंगना रनौत की फिल्म 'मेंटल है क्या' (बदला नाम जजमेंटल है क्या ) का जब पहला पोस्टर आया था, तब लोगों ने फिल्म का नाम पढ़ते ही कहा था कि कंगना पर फिल्म का यह नाम बहुत सूट करता है। यह बात कंगना खुद भी मानती हैं।



Leave a comment