आरएसएस ने की संजू की ‎‎फिल्म की‎ आलोचना

जागरूक टाइम्स 156 Jul 13, 2018


- कहा, फिल्म उद्योग ऐसे किरदारों को महिमामंडित कर रहा है जो देश के अपराधी हैं

मुंबई : राजकुमार हिरानी की फिल्म 'संजू' बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचा रही है, लेकिन आरएसएस ने इस फिल्म की तीखी आलोचना की है और कहा है कि इस फिल्म के आने से फिल्म उद्योग की साथ पर सवाल लग गया है। आरएसएस ने कहा ‎कि मुंबई फिल्म उद्योग ऐसे किरदारों को महिमामंडित कर रहा है जो देश के अपराधी है।

'संजू या रईस के आदर्श सामने रखने वालों की मंशा क्या है!' संजू फिल्म बनाने के पीछे निर्देशक राजकुमार हीरानी का मकसद क्या संजय दत्त की छवि को चार-चांद लगाना है? या फिर उन्हें संजय की जिंदगी ऐसी लगती है जिसमें युवाओं को लिए सीखने को बहुत कुछ है?

बॉलीवुड में अंडरवर्ल्ड को महिमामंडित करने वाली फिल्मों के लेकर आलोचना हमेशा से होती रही है। ऐसी फिल्मों से परहेज करना चाहिए। संजय दत्त के जीवन पर बेहद कड़ी टिप्पणी करते हुए उनके बारे में लिखा गया है।

1993 के बंबई बम धमाकों में मजहबी उन्मादियों से याराना रखने वाले, अपने घर में धाकत हथियार छुपाकर रखने वाले, बम धमाके की साजिश का पता होने के बावजूद उसे पुलिस से छुपाए रखने वाले, अपराधों के लिए कई बार जेल की हवा खाने वाले, रंगीनमिजाज होने के कारण तीन शादियां रचाने वाले, अपनी पहली पत्नी को कैंसर की हालत में बेसहारा छोड़ देने वाले' संजय दत्त की इन्हीं खूबियों से प्रभावित होकर हीरानी ने उनकी कहानी पर्दे पर उतारी है।

Leave a comment