जेनोवा में बारिश से पुल गिरा, 35 लोगों की मौत

जागरूक टाइम्स 296 Aug 15, 2018

जेनोवा : इटली के उत्तर पश्चिम शहर जेनोवा में एक पुल गिरने से 35 लोगों की मौत हो गई। पुलिस अधिकारी ने बताया कि हादसे में 16 लोग बुरी तरह से घायल हुए हैं। अधिकारियों के मुताबिक़ 12 लोग अब भी लापता बताए जा रहे हैं। मौक़े से मिली रिपोर्टों में बताया गया है कि मलबे में फंसे लोगों के रोने और चिल्लाने की आवाज़ सुनाई दे रही है। फंसे लोगों को बाहर निकालने के लिए रातभर राहत और बचाव का काम जारी रहा। 300 बचावकर्मियों को बचाव कार्य में लगाया गया है जो खोजी कुत्तों की मदद से फंसे लोगों की तलाश कर रहे हैं।

भारी बारिश के बीच ढहे पुल के गिरने का क्या कारण है, इसकी अभी जानकारी नहीं हो सकी है लेकिन पुल की सुरक्षा को लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं। हादसे के बाद इटली के गृहमंत्री ने कहा है कि 'जिम्मेदार लोगों की जवाबदेही तय होगी। सिविल डिफेंस एजेंसी के प्रमुख एंजेलो बोरेली ने बताया कि हादसे के वक़्त करीब 30 से 35 कारें और तीन भारी वाहन पुल पर मौजूद थे।

ये पूरा हादसा कैमरे में भी क़ैद हो गया है। वीडियो और तस्वीरों के जरिए जानकारी मिली है कि भारी बारिश के दौरान पुल का एक खंबा गिर पड़ा। पुल टूटने के बाद इसका मलबा क़रीब 45 मीटर नीचे आ गया और पास के रेलवे ट्रैक, इमारतों और एक नदी में बिखर गया। राहत और बचावकर्मी मलबे और वाहनों में फंसे लोगों को निकालने में जुटे हैं। बचाव में जुटे एक कर्मचारियों का कहना है कि पुल के बाकी हिस्से के भी गिरने का ख़तरा है। इसे लेकर आसपास की इमारतों को खाली कराया जा रहा है।

इटली के गृहमंत्री मात्तेओ साल्विनी ने कहा है कि इस हादसे के लिए अगर कोई ज़िम्मेदार पाया गया तो उसकी जवाबदेही तय होगी। उन्होंने कहा, मैं सैंकड़ों बार इस पुल पर से होकर गुजरा हूं। अब इटली के एक नागरिक के तौर पर मैं अतीत और मौजूदा दौर के तमाम जवाबदेह प्रबंधकों के नाम हासिल करने के लिए सबकुछ करूंगा क्योंकि इटली में इस तरह किसी की मौत हो, ये बर्दाश्त नहीं किया जा सकता।

रास्ते का संचालन करने वाले 'ऑटोस्ट्राड' के एक प्रबंधक ने मीडितया को बताया, ये मानने का कोई कारण नहीं था कि ये पुल ख़तरनाक है। पुल स्थानीय समयानुसार 11 बजकर 30 मिनट पर गिरा। पुल गिरने की वजह तेज़ बारिश बताई जा रही है। पुलिस का कहना है कि बादल फ़टने की वजह से हुई तेज़ बारिश के चलते पुल का एक टॉवर गिर पड़ा और पुल ढह गया।

Leave a comment