न्यूजीलैंड की दो मस्जिद में अंधाधुंध फायरिंग, 49 लोगों की मौत

जागरूक टाइम्स 1438 Mar 15, 2019

​वेलिंग्टन (ईएमएस)। न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च इलाके में दो मुस्लिम इबादतगाहों में अज्ञात हमलावरों ने अचानक धुआंधार फायरिंग कर दी जिसके चलते भारी अफरातफरी मच गई। हमले में 49 लोगों के मारे जाने और कई के घायल होने की खबर है। पहला हमला अल नूर मस्जिद में हुआ। यह जानकारी न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री ने दी है। बताया जा रहा है कि गोलीबारी के वक्त बांग्लादेश की क्रिकेट टीम मस्जिद में मौजूद थी, लेकिन वह सुरक्षित बच निकलने में कामयाब रही। गोलीबारी के सिलसिले में चार लोगों को हिरासत में लिया गया है। न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्होंने कहा कि यह हमला पूरी तरह से योजना तैयार कर किया गया है। हमलावरों ने न्यूजीलैंड को निशाना बनाया क्योंकि हमारा देश विभिन्नता का प्रतिनिधित्व करता है।

पुलिस कमिश्नर माइक बुश ने कहा कि पुलिस ने तीन पुरुष और एक महिला संदिग्ध को हिरासत में लिया है। उन्होंने कहा कि इस मामले में कई और संदिग्धों को हिरासत में लिया जाएगा। न्यूजीलैंड की सरकार ने देश की सभी मस्जिदों को बंद करने का आदेश दिया है। चश्मदीदों की मानें तो हमलावर ने काले कपड़े पहने हुए हैं और वह सिर पर हेलमेट लगाए हुए था। उसके पास स्वचालित हथियार है, जिससे वह फायरिंग कर रहा था। न्यूजीलैंड पुलिस ने पूरे इलाके को घेर लिया है।
रिपोर्ट्स के मुताबिक हमले के दौरान बांग्लादेश की क्रिकेट टीम वहीं पर थी।

मस्जिद में गोलीबारी की जानकारी मिलते ही सभी खिलाड़ी बाकी लोगों के साथ किसी तरह मस्जिद से निकल आए। सभी को पास के पार्क के साथ वाले रास्ते से वापस ओवल मैदान की तरफ लाया गया। मालूम हो कि बांग्लादेश क्रिकेट टीम इस वक्त न्यूजीलैंड दौरे पर है। शनिवार को दोनों के बीच तीसरा टेस्ट मैच क्राइस्टचर्च में ही खेला जाना है। बांग्‍लादेश क्रिकेट बोर्ड के डायरेक्‍टर ने कहा है कि क्रिकेट टीम पूरी तरह से सुरक्षित है। सभी खिलाड़ी अपने होटल में हैं।

हम इन हालात पर नजर रखे हैं। हमारे सीईओ न्‍यूजीलैंड अथॉरिटी से संपर्क में हैं। बताया जा रहा है कि जिस वक्‍त मस्जिद में यह घटना हुई, उस समय बांग्‍लादेश की क्रिकेट टीम भी वहां मौजूद थी। इस घटना के बाद शनिवार को बांग्‍लादेश और न्‍यूजीलैंड के बीच शुरू होने वाला क्रिकेट टेस्‍ट मैच रद्द कर दिया गया है। यह टेस्‍ट मैच हेगली ओवल में खेला जाना था। खबरों के मुताबिक शुक्रवार को जुमे की नमाज के लिए मस्जिद में करीब 300 लोग मौजूद थे।

न्यूजीलैंड की पीएम जैसिंडा ऑर्डर्न ने इसे देश का सबसे काला दिन करार देते हुए कहा है कि मस्जिद में कई जगहों से फायरिंग हो रही है। उन्होंने लोगों को सुरक्षित जगह रहने का आग्रह करते हुए कहा कि हमलावर अभी भी सक्रिय है वह और लोगों को नुकसान पहुंचा सकता है। उन्होंने कहा, 'न्यूजीलैंड में हिंसा की कोई जगह नहीं है।' मस्जिद में जुमे की नमाज के लिए काफी लोग आए थे। अल नूर मस्जिद में हमले के वक्त 200 से ज्यादा लोग मौजूद थे, तभी गोलियां की आवाज सुनाई पड़ी थी।

मीडिया में ऐसी भी अपुष्ट खबरें है कि हमलावर ने हमले से पहले फेसबुक लाइव किया था। हालांकि रिपोर्ट्स के अनुसार फेसबुक ने तुंरत उसका अकाउंट सस्पेंड कर दिया। हमलावर के फेसबुक लाइव की खबरों की न्यूजीलैंड सरकार ने पुष्टि नहीं की है। न्यूजीलैंड के पुलिस कमिश्नर ने माइक बुश ने कहा कि जहां तक मेरी जानकारी है इस हमले में कई लोग मारे गए हैं। उन्होंने बताया कि पुलिस ने चार लोगों को हिरासत में लिया है।

उन्होंने बताया, 'तीन पुरुष और एक महिला को हिरासत में लिया गया है। हम स्थिति का जायजा ले रहे हैं। हम अभी नहीं मान सकते कि खतरा टल गया है।' अल नूर मस्जिद के प्रत्यक्षदर्शियों के हवाले से बताया गया कि कम-से-कम चार लोग जमीन पर पड़े हुए थे। चारों तरफ खून बिखरा हुआ है। एक अन्य प्रत्यक्षदर्शी ने मीडिया को बताया मिलिटरी स्टाइल में कपड़े पहने शख्स ऑटोमेटिक राइफल लिए हुए था और उसने अचानक अल नूर मस्जिद में फायरिंग शुरू कर दी।


Leave a comment