सचिन को हर जगह पीछे छोड़ रहे विराट

जागरूक टाइम्स 170 Jun 28, 2019

नई दिल्ली (ईएमएस)। टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने वेस्टइंडीज के खिलाफ उन्होंने सबसे तेज 20,000 अंतरराष्ट्रीय रन बनाने का रेकॉर्ड अपने नाम किया है। इस दौरान उन्होंने महान बल्लेबाज सचिन तेंडुलकर को भी पीछे छोड़ दिया। सचिन ने 20 हजार रन बनाने के लिए 453 पारियां खेलीं थीं, वहीं कोहली ने 417 पारियों में यह यह आंकड़ा हासिल कर लिया। विराट महान बल्लेबाज सचिन तेंडुलकर के ज्यादातर रेकॉर्ड को पीछे छोड़ते जा रहे हैं।

सबसे तेज 11,000 एकदिवसीय रन
विराट ने विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ मुकाबले में सबसे तेज 11,000 एकदिवसीय रन बनाने की उपलब्धि हासिल की। उन्होंने इस आंकड़े को 222 पारियों को हासिल किया। यहां भी उन्होंने सचिन तेंडुलकर के ही विश्व रेकॉर्ड को तोड़ा। सचिन ने 11,000 रन बनाने के लिए 276 पारियां खेली थीं।

सबसे तेज 8000, 9000 और 10000 एकदिवसीय रन
सबसे पहले 10000 एकदिवसीय रनों की को ही देखें। यहां भी कोहली शीर्ष पर हैं और सचिन दूसरे नंबर पर खिसक गये हैं। विराट ने जहां 205 पारियों में इस आंकड़े को हासिल किया, वहीं सचिन तेंडुलकर ने 259 पारियों में यह उपलब्धि हासिल की। इसी तरह विराट ने एकदिवसीय में सबसे तेज 9000 और 8000 रन का विश्व रेकॉर्ड भी अपने नाम रखा है। बात अगर सबसे तेज 9000 रनों की करें तो कोहली ने 194 पारियां इसके लिए खेलीं जबकि इस लिस्ट में चौथे नंबर पर मौजूद सचिन ने 235 पारियां खेलीं। इसी तरह कोहली एकदिवसीय मैचों में सबसे तेज 8000 रन पूरे करने वाले भी बल्लेबाज हैं। उन्होंने इसके लिए 175 पारियां खेली। इस मामले में सचिन दुनिया में सातवें नंबर पर हैं, जिन्होंने 210 पारियों में यह आंकड़ा हासिल किया।

लगातार चार टेस्ट सीरीज में दोहरे शतक
एकदिवसीय ही नहीं विराट क्रिकेट के सभी प्रारुपों में शानदार प्रदर्शन किया है। वह साल दर साल रिकार्ड बना रहे हैं। विराट दुनिया के एकमात्र ऐसे बल्लेबाज हैं, जिन्होंने लगातार 4 टेस्ट सीरीज में दोहरे शतक लगाए हैं। यह कारनामा उन्होंने 2016-17 सीजन में वेस्ट इंडीज, न्यूजीलैंड, इंग्लैंड और बांग्लादेश के खिलाफ हुईं श्रृंखलाओं में किया। कोहली के अभी टेस्ट में 6 दोहरे शतक हैं। सचिन ने अपने पूरे टेस्ट करियर में 6 दोहरे शतक लगाए हैं लेकिन वह कभी भी लगातार श्रृंखलाओं में यह कारनामा नहीं किया है।

साल में सबसे तेज 1000 रन
विराट कोहली ने 2018 में किसी कैलेंडर इयर में सबसे तेज 1,000 रन बनाने का विश्व रेकॉर्ड कायम किया। उन्होंने महज 11 पारियों में यह कारनामा किया। बात अगर सचिन की करें तो सचिन के किसी कैलेंडर इयर में सबसे तेज 1000 रन 21 पारियों में आए। सचिन ने 2003 में यह कारनामा किया था।

औसत में भी आगे
विराट औसत के मामले में भी सचिन से आगे हैं। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के तीनों ही प्रारुपों में कोहली का औसत शानदार रहा है हालांकि, टेस्ट में सचिन का औसत विराट से दशमलव में आगे है लेकिन आने वाले वक्त में कोहली यहां भी इस दिग्गज बल्लेबाज को पीछे छोड़ सकते हैं। कोहली का टेस्ट में 53.76, एकदिवसीय में 59.67 और टी-20 में 50.29 का औसत है। सचिन का औसत टेस्ट में 53.79, एकदिवसीयI में 44.83 और टी-20 में 10 का है। सचिन ने एक मात्र टी-20 अंतरराष्ट्रीय खेला था, जिसमें उन्होंने 10 रन बनाए थे।







Leave a comment